90% आबादी सुरक्षा कवच में:उम्मीद...काेराेना की तीसरी लहर आई तो एंटीबॉडी करेगी संक्रमण से बचाव

शाजापुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
वैक्सीनेशन जारी है, जल्द ही जिला शत-प्रतिशत वैक्सीनेटेड होगा। - Dainik Bhaskar
वैक्सीनेशन जारी है, जल्द ही जिला शत-प्रतिशत वैक्सीनेटेड होगा।

शाजापुर में अब तक 11 लाख से ज्यादा वैक्सीन की फर्स्ट और सेकंड डोज लग चुकी है। जिले की 90% आबाद टीकाकरण के सुरक्षा कवच में है। उम्मीद की जा रही कोरोना संक्रमण के खिलाफ हुए टीकाकरण से लोगों के शरीर में बनने वाले एंटीबॉडी तीसरी लहर आने पर बचाव करेंगे। तीसरी लहर आई भी तो इसका प्रभाव वैसा नहीं होगा, जैसा दूसरी लहर में संक्रमण की भयावह तस्वीर सामने आई थी। विश्व के 38 देशों में फैल चुके कोरोना के नए वैरिएंट ओमिक्रॉन ने भारत में भी दस्तक दे दी है। हालांकि मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक किसी भी देश में ओमिक्रॉन से संक्रमित मरीजों की मौत के आंकड़े ना के बराबर है लेकिन इसके फैलाव की गति तेज है और किसी भी दिन संक्रमण शहर में किसी यात्री अथवा विदेश या देश के किसी हिस्से में घूमकर वापस शहर लौटे नागरिक के माध्यम से प्रवेश कर सकता है। इन्हीं आशंकाओं के बीच यह खबर खुशी देने वाली है कि जिले में 90 प्रतिशत टीकाकरण हो चुका है। जिला टीकाकरण अधिकारी डॉ. दीपक पिप्पल ने बताया जिले में 18 साल से अधिक उम्र के लोगों को वैक्सीन लगाने का टारगेट 7 लाख 40 हजार है। टारगेट को प्राप्त करते हुए अब तक 6 लाख 19 हजार 255 लोगों को फर्स्ट डोज एवं 5 लाख 04 हजार 166 को सेकंड डोज लगाई जा चुकी है।

संक्रमण फैलने के चांस लेकिन गंभीर स्थिति नहीं बनेेगी
जिला अस्पताल में नवागत चेस्ट स्पेशलिस्ट एमडी डॉ. जेपी शर्मा का कहना है कोरोना की तीसरी लहर के संकेत तो मिल गए हैं लेकिन अन्य देशों से जो रिपोर्ट आई है, उसमें वैक्सीन लगवा चुके लोग संक्रमित होने के बावजूद गंभीर नहीं हो रहे हैं। जिले में वैक्सीनेशन शत-प्रतिशत होने का यह फायदा भी हो सकता है कि तीसरी लहर आए और सामान्य बीमार होकर लोग ठीक हो जाए। संक्रमण की रफ्तार वैक्सीनेशन के कारण बाधित होगी। वैक्सीन से शरीर में बनने वाली प्रतिरक्षा प्रणाली मजबूत होने से तीसरी लहर खतरनाक नहीं होगी। वैक्सीन से लोगों की रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ी है।

मास्क लगाकर खुद के साथ दूसरे की भी सुरक्षित करें
डॉ. शर्मा का कहना है कि वैक्सीन अपनी जगह काम करेगा लेकिन मास्क लगाना बेहद जरूरी है क्योंकि संभव है कि आप वैक्सीन लगाकर पूरी तरह सुरक्षित हैं और आपकी रोग प्रतिरोधक क्षमता मजबूत है लेकिन यदि आपने मास्क नहीं लगाया और वायरस आपके अंदर पहुंच चुका है तो वो आपका तो कुछ नहीं बिगाड़ पाएगा लेकिन संभव है कि आपके संपर्क में आने वाला व्यक्ति इससे संक्रमित होकर बीमार पड़ जाए। इसलिए जरूरी है कि मास्क लगाकर आप खुद के साथ दूसरों की भी सुरक्षा करें। अभी देखने में आ रहा है कि बहुत कम लोग ही मास्क लगा रहे हैं।

कार्यालयों में सतर्कता के लिए प्रारंभिक जांच की शुरूआत
इधर सभी शासकीय कार्यालयों में आने-जाने वाले लोगों की प्रारंभिक जांच के लिए टेंपोररल आर्टरी थर्मामीटर से शरीर के तापमान की जांच करना शुरू कर दिया है। कलेक्टर कार्यालय में आने वाले लोगों की जांच के लिए एक कर्मचारी को नियुक्त किया है, जो लोगों की जांच कर रहा है। इसके अलावा मुख्य गेट पर दो पुलिसकर्मियों की भी तैनाती की जा चुकी है जो बगैर मास्क के कार्यालय में प्रवेश नहीं दे रहे हैं। यदि कोई व्यक्ति मास्क नहीं लगाकर आएगा तो उसके लिए गेट पर मास्क विक्रेता को खड़ा किया है। मास्क लगाने से हम खुद के साथ दूसरों को भी सुरक्षित रख सकेंगे।

खबरें और भी हैं...