पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Ujjain
  • Shajapur
  • Now The Work Will Not Stop Even After The Water Is Filled In The Dam, The Pipeline Started Pouring In To Bring Water From The Intcwell Built Within 200 Meters Of The Submergence Area.

सवा करोड़ का नया इंटकवेल:अब डेम मेें पानी भर जाने के बाद भी नहीं रुकेगा काम, डूब क्षेत्र के 200 मीटर अंदर बनाए इंटकवेल से पानी लाने के लिए पाइप लाइन डालना शुरू

शाजापुर23 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • काम होने के बाद नहर व नदी में पानी बहाकर लाने की जरूरत नहीं पड़ेगी, सीधे पाइप के जरिए वाटर वर्क्स तक पहुंचेगा पानी
Advertisement
Advertisement

60 लाख रुपए से बेरछा रोड के समीप बनाया इंटकवेल खराब होेने के बाद डेम के करीब 200 मीटर अंदर डूब क्षेत्र में सवा करोड़ रुपए से नया इंटकवेल बनकर लगभग तैयार हो गया है। इंटकवेल से पानी लाने के लिए पाइप लाइन डालने का काम शुरू हो चुका है। ऐसा होने के बाद शहरवासियों को ज्यादा साफ पानी मिलना शुरू हो जाएगा।
आगामी दिनों में बढ़ती आबादी के बाद शहर की पेयजल समस्या का स्थाई समाधान करने के लिए 12 करोड़ रुपए से यूआईडीएसएसएमटी योजना के तहत कई काम हुए। नई पानी की टंकियां बनाने के साथ ही शहर में पानी सप्लाई के लिए भी पाइपाें का जाल बिछा दिया गया। 
इधर, शहरवासियों के पेयजल का मुख्य स्रोत चीलर डेम से पानी लाने के लिए इंटकवेल बनाकर पाइप लाइन के जरिए शहर तक पानी लाने की प्लानिंग हुई। इसके लिए वाटर वर्क्स से चीलर डेम तक पाइप लाइन डाली गई, लेकिन डेम से पानी लाने के लिए बनाया गया इंटकवेल ऊंचे स्थान पर बना देने से यह फेल हो गया। ऐसे में नपा ने नया इंटकवेल बनाना शुरू किया। डूब क्षेत्र के करीब 200 मीटर अंदर पिछले साल से शुरू हुए इंटकवेल का काम लगभग पूरा होने को है। बारिश के दौरान यदि अब डेम में पानी भी भर जाएगा तो भी इंटकवेल का काम अब चलता रहेगा। 
अब तक 90 प्रतिशत काम पूरा
नए इंटकवेल का काम 90 प्रतिशत तक हो चुका है। इंटकवेल से पुराने इंटकवेल के बीच जिस जगह तक पानी भरा रहता है वहां तक पाइप लाइन बिछाने काम हो रहा है। अब महज 500 फीट पर ही बेस बनाकर पाइप डालने का काम बचा है। 
ज्यादा साफ पानी मिलने लगेगा
उक्त काम पूरा हो जाने के बाद डेम का पानी वाटर वर्क्स तक सीधे पाइप लाइन के जरिए पहुंचना शुरू हो जाएगा। इससे वाटर वर्क्स तक वर्तमान में आ रहे पानी से ज्यादा साफ पानी आना शुरू हो जाएगा। इससे शहरवासियाें को ज्यादा साफ पानी मिलना शुरू हो जाएगा।
अभी ऐसे आता है पानी
अभी चीलर डेम का पानी नहर से होता हुआ चीलर नदी में छोड़ा जाता है। करीब 3 किमी तक ऐसे ही खुले में बहते हुए पानी को वाटर वर्क्स के पास तक लाया जाता है। यहां बनाए गए इंटकवेल से मोटर के जरिए पानी वाटर वर्क्स में लिफ्ट कराने के बाद उसे फिल्टर किया जाता है। खुले में बहते हुए आने के कारण नदी में आने तक पानी ज्यादा गंदा रहता है। 
पानी की बर्बादी भी रुकेगी- डेम का पानी बहाकर लाने के कारण ज्यादा पानी खर्च होता था। शहर में हर दूसरे दिन की जाने वाले सप्लाई पर जितना पानी खर्च होता है उससे ज्यादा पानी खुले मंे लाने के कारण ही बर्बाद हो जाता।  

Advertisement
0

आज का राशिफल

मेष
मेष|Aries

पॉजिटिव - आज वित्तीय स्थिति में सुधार आएगा। कुछ नया शुरू करने के लिए समय बहुत अनुकूल है। आपकी मेहनत व प्रयास के सार्थक परिणाम सामने आएंगे। विवाह योग्य लोगों के लिए किसी अच्छे रिश्ते संबंधित बातचीत शुर...

और पढ़ें

Advertisement