बाल वैज्ञानिकों ने बताया पर्यावरण को कैसे बचाएं:सड़क रिपेयरिंग से करोड़ों का ईंधन बचाने तो किसी ने प्राकृतिक संसाधनों से पानी शुद्ध करने का रखा पक्ष

शाजापुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
पाॅवर पाइंट प्रजेंटेशन से शोध की जानकारी सांझा करते बाल वैज्ञानिक। - Dainik Bhaskar
पाॅवर पाइंट प्रजेंटेशन से शोध की जानकारी सांझा करते बाल वैज्ञानिक।

शाजापुर के बाल वैज्ञानिकों के शोधपत्र में छोटी-छोटी बातों को ध्यान रखते हुए प्राकृतिक संसाधनों का उपयोग कर पर्यावरण को बचाया जा सकता है। 10-17 आयु वर्ग के बालक-बालिकाओं ने सड़क की छोटी सी रिपेयरिंग कर कीमती ईंधन बचाने और पानी को शुद्ध करने का प्रस्ताव भी रखा। इनके इस शोध का चयन अब राज्य स्तरीय राष्ट्रीय बाल विज्ञान कांग्रेस के लिए हुआ है।

राष्ट्रीय बाल विज्ञान कांग्रेस के जिला समन्वयक ओम प्रकाश पाटीदार ने बताया शाजापुर जिले से चयनित 5 परियोजनाओं का प्रस्तुतीकरण 9 एवं 10 दिसंबर 2021 को होने वाली राज्य स्तरीय राष्ट्रीय बाल विज्ञान कांग्रेस में ऑनलाइन वर्चुअल मोड पर किया जाएगा, जिसमें शाजापुर जिले से चयनित बाल वैज्ञानिक अपनी परियोजनाओं का प्रस्तुतीकरण करेंगे।

जिला स्तरीय राष्ट्रीय बाल विज्ञान कांग्रेस का आयोजन शासकीय महारानी लक्ष्मीबाई शासकीय कन्या उमावि शाजापुर में किया गया। कार्यक्रम के दौरान प्रस्तुत परियोजनाओं के पावर पॉइंट प्रस्तुतिकरण के दौरान बाल वैज्ञानिकों के समूह में पिछले 8 से 9 माह के अपने शोध के माध्यम से प्राप्त परिणामों से बताया। मुख्य रूप से उचित समय पर सड़क की छोटी सी रिपेयरिंग की जाए तो इससे वाहनों की मरम्मत के खर्च में कटौती के साथ-साथ करोड़ों रुपए का ईंधन बचाया जा सकता है।

इन बाल वैज्ञानिकों का चयन किया
शासकीय महारानी कन्या उच्चतर माध्यमिक विद्यालय शाजापुर की ऋषिका केम तथा रेणुका जाटव ने अपने आसपास के प्राकृतिक संसाधनों का उपयोग करते हुए पानी को शुद्ध करने का तुलनात्मक अध्ययन किया। वहीं शासकीय शारदा उत्कृष्ट विद्यालय शुजालपुर के निर्मल परमार तथा रोहित परमार ने पारिस्थितिकी तंत्र में पारिस्थितिकी तंत्र सेवा पर स्थानीय लोगों की निर्भरता का अध्ययन पर शोध पत्र तैयार किया।

शाउमावि ज्योति नगर की परिधि ठाकुर एवं सपना नायक ने शाजापुर शहर के क्षेत्र की भूमि गुणवत्ता पर कीटनाशकों का प्रभाव का अध्ययन कर किसानों के हित में अपनी जानकारी जुटाई। महात्मा गांधी कान्वेंट स्कूल शाजापुर की अफज़ा लोदी एवं एलबॉब लोदी ने सड़कों की छोटी-छोटी मरम्मत से करोड़ों के ईधन की बचत तथा शासकीय हाई स्कूल मंडोडा के अंशुल चौहान एवं मनीष चौहान ने विद्यालय के आसपास के पारिस्थितिक घटकों का निरीक्षण परियोजनाओं का चयन राज्य स्तरीय बाल विज्ञान कांग्रेस के लिए किया गया।

खबरें और भी हैं...