पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

बेबसी:व्यापारी बोले- पहले मिलती छूट तो कुछ कर्जा तो होता कम

शाजापुर17 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • 100 लोगों के शादियों में शामिल होने की छूट मिलते ही व्यापारियों ने कहा कि अब तो सीजन चला गया

100 लोगों को शादियों में शामिल होने की छूट मिलने के बाद भी इस बिजनेस से जुड़े व्यापारियों के चेहरे खुशी से खिले नहीं है, क्योंकि 20 जुलाई को देव सो रहे हैं। इसके बाद नवंबर में ही शादी के मुहूर्त आएंगे। इससे उनके व्यापार को गति मिलेगी। वर्तमान में सभी व्यापारियों के पास 15 या 16 जुलाई के एक या दो ऑर्डर बुक है। इससे केवल उनका खर्चा ही निकल सकता है। इसमें गार्डन, बैंड, लाइट डेकोरेशन और अन्य विवाह समारोह में शामिल होने वाले व्यवसायिक शामिल हैं, जो चाहते थे कि यह छूट पहले मिलती तो हो सकता था कि थोड़ा ही सही परंतु कर्जा खत्म कर लेते।

केवल एक ऑर्डर ही है, अब बर्थडे पार्टी से आस
गार्डन संचालक हरिनारायण राठौर ने बताया कि परमिशन मिलने के बाद भी लग्न की तारीख निकल चुकी है। इससे हमें कोई फायदा नहीं मिलेगा। केवल एक ऑर्डर हाथ में है। वह भी पाती के लगन है। इसके बाद नवंबर में ही मुहूर्त आएंगे। अंकित अंबावतिया ने बताया कि 15 जुलाई का एक ही ऑर्डर है, जो 100 लोग के विवाह या पार्टी में शामिल होने से हो सकता है कि बर्थडे पार्टी के ऑर्डर मिले। इससे थोड़ा बहुत खर्चा हम अपना सीजन बिना भी चला सकेंगे। (चित्र में गार्डन संचालक राठौर 15 तारीख को विवाह समारोह का एक ऑर्डर बुक करते हुए।)

घोड़ी और बैंड वाले भी नाखुश, अब तो ऑर्डर ही रद्द हो चुके
घोड़ी वाले शुभम माली ने बताया कि उनके पास भी केवल एक ही ऑर्डर है। उसे ही वह पूरा करेंगे। छूट बहुत लेट मिली है, क्योंकि सभी ऑर्डर रद्द हो चुके हैं। वहीं बैंड संचालक दिलीप सिंह ने बताया कि केवल माता पूजन का ऑर्डर है। वह भी हम गार्डन के अंदर ही बैंड बजाएंगे। महावीर बैंड वाले राजेश मितोला ने बताया कि बड़ी मुश्किल से केवल एक ही ऑर्डर हमारे पास है, बाकी सभी ऑर्डर रद्द कर दिए हैं।

20 को देवशयनी ग्यारस पर भी होंगे विवाह समारोह
पंडित शिवनारायण चतुर्वेदी ने बताया कि देवशयनी ग्यारस 20 जुलाई मंगलवार को रहेगी। इसमें कुछ लोग विशेष मुहूर्त निकलवाकर विवाह करेंगे। 15 जुलाई को विशेष मुहूर्त के बाद पाती के 17 और 18 जुलाई को भी लगन हैं 100 लोगों की छूट मिलने के बाद उनके पास जरूर चार से पांच ऑर्डर अभी आ चुके हैं। जो 20 जुलाई तक पूरे होंगे। मेहंदी व संगीत समारोह के बिजनेस से जुड़ी सिमरन मितोला बताती हैं कि ऑर्डर रद्द हुए, परंतु वह नवंबर में मिल जाएंगे। 100 लोगों की परमिशन को अब देने से कोई फायदा नहीं है। अगर नवंबर में तीसरी लहर आई तो एक बार फिर घर में बैठना होगा।

खबरें और भी हैं...