पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

बैठक में निर्णय:बस स्टैंड के सामने बने काॅम्प्लेक्स में व्यापारी करेंगे दुकानों का संचालन तो बाकी लगाएंगे गुमटियां

शाजापुर19 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • बस स्टैंड के 34 व्यापारियों को दुकान खाली करने के लिए 2 हफ्ते का समय

बस स्टैंड के नव निर्माण के लिए दुकानदार और नगर पालिका के बीच उलझा हुआ पेंच सुलझाता हुआ नजर आ रहा है। दुकान खाली कराने के लिए दुकानदारों से नगर पालिका में सोमवार को बैठक हुई। इसके बाद शाम 5.30 बजे नगर पालिका सीएमओ भूपेंद्र दीक्षित स्वयं अन्य अधिकारियों के साथ बस स्टैंड के दुकानदारों के पास आ गए, जहां पर आधे घंटे के बाद यह निर्णय लिया कि बस स्टैंड के दुकानदारों को सामने ही बने काॅम्प्लेक्स में व्यापार करने के लिए दुकानें दी जाएगी परंतु यहां पर भी दुकान 22 थी और दुकानदार 34 थे।

इसके बाद फिर विवाद की स्थिति बनी। उस समस्या का हल करते हुए बाकी दुकानदार अब गुमटियां लगाकर अपनी दुकानों का संचालन करेंगे। यह व्यवस्था वैकल्पिक होगी और बस स्टैंड के निर्माण के बाद इनको फिर से क्रम से दुकानें दी जाएगी।

बस स्टैंड व्यापारी संघ के सचिव उमेश टेलर ने बताया बैठक में निर्णय हुआ है कि 34 दुकानदार स्टैंड के सामने बने काॅम्प्लेक्स में नवनिर्मित बस स्टैंड बनने तक वहीं व्यापार करेंगे और जिनको दुकान नहीं मिलेगी, वह गुमटिया लगाएंगे, जिसका एग्रीमेंट किया जाएगा। स्टैंड व्यापारी संघ के सचिव उमेश टेलर ने बताया पहले बैठक में 1 हफ्ते का समय दिया था, जिसके बाद दुकानदारों के निवेदन पर 1 हफ्ते का समय और बढ़ाया है।

वर्ष 1980 में किया गया था बस स्टैंड का निर्माण
जिला बस एसोसिएशन के सचिव सुमित नागर ने बताया 1980 में बस स्टैंड का निर्माण किया गया था। उसके बाद उद्घाटन के लिए अर्जुन सिंह से आए थे, जिसके लिए यहां पर मंच बनाया गया था। तब भारी संख्या में इंदौर और उज्जैन से भी लोग स्टैंड का निर्माण देखने के लिए आए थे। स्टैंड के साथ कई यादें जुड़ी हैं।

खबरें और भी हैं...