पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

अदृश्य शत्रु के साथ हम जीवन जी रहे हैं:जो घातक है, सावधानी में ही सुरक्षा, विशेषज्ञों ने विचार साझाकर ऑनलाइन विद्यार्थियों को दी जानकारी

शाजापुर9 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

राष्ट्रीय विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी संचार परिषद भारत सरकार नई दिल्ली एवं साइंस सेंटर ग्वालियर मध्यप्रदेश के द्वारा संचालित स्वास्थ्य एवं विज्ञान जागरूकता वर्ष के अंतर्गत ऑनलाइन वेबिनार आयोजित किया, जिसका मुख्य विषय कोरोना एक अदृश्य वायरस के साथ रहते हुए सावधानियां। संचालन कर रही संध्या वर्मा प्रदेश सचिव साइंस सेंटर ग्वालियर मध्यप्रदेश ने सभी अतिथियों का स्वागत एवं परिचय कराया। इसके उपरांत वर्षभर चलने वाली गतिविधियों से अवगत कराया।

उन्होंने कहा अदृश्य शत्रु के साथ हम जीवन जी रहे हैं, जो घातक है सावधानी में ही सुरक्षा है। बीएल मलैया जिला समन्वयक होशंगाबाद ने बताया 26 जिले के 100 से अधिक शिक्षक और बच्चे कार्यक्रम में सम्मिलित रहे। पर्यावरण संरक्षण और ऑक्सीजन की पूर्ति के लिए प्लांटेशन विथ सेल्फी का आयोजन सभी जिलों में लांच किया है। इस कार्यक्रम में बच्चे अपने घर पर पौधा रोपण करते हुए एक सेल्फी अपलोड करना है।

डॉ वी. के. त्यागी वैज्ञानिक नई दिल्ली ने सचित्र स्क्रीन शेयर कर कहा पूरे विश्व में 19 करोड़ लोग इस वायरस से ग्रसित हुए थे तथा 17 करोड़ लोग ठीक हो गए। आइडिया नहीं होने के कारण फर्स्ट लॉकडाउन में सामग्री जमा करने का हाहाकार मचा था। द्वितीय लॉकडाउन में हमने देखा कि लोग ऑक्सीजन का स्टोरेज करने लगे और नए वायरस ने वैक्सीन वाले लोगों को भी इफेक्टिव कर दिया। पूरी दुनिया में लोगों को वैक्सीन नहीं लगेगी तो तीसरी लहर का खतरा मंडराता रहेगा।

खबरें और भी हैं...