पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

कोविड संक्रमण:मक्सी और झोंकर के अस्पतालों में करेंगे 8-8 बेड की व्यवस्था

शाजापुर3 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • कलेक्टर ने किया अस्पतालों का निरीक्षण, मक्सी में 10 ऑक्सीजन बेड के लिए प्रशासन को नहीं मिल रही जगह

शाजापुर के प्रभारी मंत्री इंदर सिंह परमार द्वारा मक्सी में बढ़ते कोविड संक्रमण और अपर्याप्त स्वास्थ सुविधाओं को देखते हुए गत दिवस 10 ऑक्सीजन बेड की व्यवस्था करने का निर्णय लिया था, लेकिन उनकी घोषणा के 6 दिन बाद भी मक्सी के कोविड मरीजों को ऑक्सीजन बेड की सुविधा मिलती नहीं दिख रही है। वजह मक्सी और झोंकर के प्राथमिक स्वास्थ केंद्रों में जगह की कमी। दोनों अस्पतालों में इतनी जगह प्रशासन को पर्याप्त जगह नहीं मिल रही की वो कोविड मरीजों के लिए 10 ऑक्सीजन बेड की व्यवस्था कर सके।

शनिवार शाम मक्सी पहुंचे कलेक्टर दिनेश जैन और स्वास्थ विभाग के अमले ने झोंकर प्राथमिक स्वास्थ केंद्र में ऑक्सीजन बेड, वैक्सीनेशन और अन्य स्वास्थ सुविधाओं की स्थिति का पता लगाने के उद्देश्य से अस्पताल परिसर का निरीक्षण किया। इस दौरान कलेक्टर और स्वास्थ विभाग को झोंकर के अस्पताल में 10 ऑक्सीजन बेड के लिए पर्याप्त जगह नहीं मिल सकी। वहीं मक्सी के प्राथमिक स्वास्थ केंद्र में भी रोज 4 से 5 डिलीवरी होती है इस वजह से यहां कोविड सेंटर बनाने से गर्भवती महिलाओं में संक्रमण फैलने का खतरा होने का अंदेशा रहेगा और अस्पताल प्रबंधन के पास अलग से कोई हॉल या कमरा भी नहीं है। ऐसे में मक्सी में भी 10 ऑक्सीजन बेड का इंतजाम करना परेशानी बन सकता है।

हालांकि भास्कर से चर्चा करते हुए कलेक्टर दिनेश जैन ने बताया ऑक्सीजन की सप्लाई लाइन सरकारी अस्पतालों में ही लगाई जाएगी। ये प्राइवेट जगहों पर नहीं लगाई जा सकती। जगह अगर कम भी है तो मक्सी और झोंकर के अस्पतालों में 8-8 ऑक्सीजन बेड लगाकर मरीजों को राहत देंगे। मक्सी में 10 ऑक्सीजन बेड के लिए प्रशासन पर्याप्त जगह के लिए जद्दोजहद करने में लगा हुआ है। निजी अस्पतालों में भी जगह तलाश रहा है। गत दिवस कलेक्टर दिनेश जैन ने मक्सी स्थित जिले के सबसे बड़े मुरलीधर कृपा हॉस्पिटल में कोविड सेंटर के लिए अस्पताल का निरीक्षण किया था जहां अस्पताल में बने बड़े हॉल के साथ पर्याप्त जगह और बेड की उपलब्धता भी मिल गई थी।

वहीं अस्पताल प्रबंधन के पास बिजली पानी और पार्किंग को लेकर भी कोई समस्या नहीं थी, लेकिन अस्पताल में ऑक्सीजन के लिए जरूरी पाइप लाइन उपलब्ध नहीं होने और अस्पताल परिसर में बने रहवासी क्षेत्र और अस्पताल के आसपास भी बस्ती होने की वजह से उक्त निर्णय अस्पताल को कोविड सेंटर बनाने का निर्णय प्रशासन को टालना पड़ा।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- दिन सामान्य ही व्यतीत होगा। कोई भी काम करने से पहले उसके बारे में गहराई से जानकारी अवश्य लें। मुश्किल समय में किसी प्रभावशाली व्यक्ति की सलाह तथा सहयोग भी मिलेगा। समाज सेवी संस्थाओं के प्रति ...

    और पढ़ें