परिवार में ख़ुशी / शुजालपुर में पहली बार जन्मे तीन बच्चे, परिजन बोले- ब्रह्मा, विष्णु, महेश नाम रखेंगे

Three children born for the first time in Shujalpur, the family said - Brahma, Vishnu, Mahesh will be named
X
Three children born for the first time in Shujalpur, the family said - Brahma, Vishnu, Mahesh will be named

दैनिक भास्कर

May 23, 2020, 05:00 AM IST

शुजालपुर. सिविल अस्पताल सिटी का ब्लड स्टोरेज यूनिट बंद होने से रैफर की गई अल्प रक्तता पीड़ित प्रसूता ने जश अस्पताल में ट्रिपलेट बच्चे जन्मे। तीनों बेटे स्वस्थ है और पिता ने कहा परिवार से पूछकर ब्रह्मा, विष्णु, महेश नाम रखना तय किया है। रिटायर्ड 45 साल का अनुभव रखने वाली मरियम्मा सिस्टर ने कहा कहीं न सुना, न ऐसा प्रसव बीते 50 साल में जिले में हुआ। 
गुलाना तहसील के तिंगजपुर निवासी संतोष कुशवाह अपनी पत्नी संगीताबाई को 18 मई की रात सिविल अस्पताल लेकर पहुंचे। शुजालपुर की ब्लड स्टोरेज यूनिट बंद होने से उन्हें महिला चिकित्सक ने खून की कमी होने से शाजापुर सिविल अस्पताल जाकर खून चढ़वाने के बाद ही शुजालपुर में ऑपरेशन होना संभव बताया। परिजनों ने 3 बच्चे गर्भ में होने से आने-जाने की असुविधा देख सिविल अस्पताल को छोड़ रक्त आपूर्ति वाले जश अस्पताल जाने का निर्णय लिया। महिला रोग विशेषज्ञ डॉ. अमृता शर्मा, सर्जन डॉ. अपूर्व शर्मा, डॉ. सुमित व सहयोगियों ने इस सर्जरी के लिए विशेष तैयारी की। सफल अाॅपरेशन के बाद डॉ. अमृता ने बताया जुड़वा बच्चे तो कई जन्मे, लेकिन पहली बार ट्रिपलेट बच्चों की डिलीवरी उनके लिए नया अनुभव रहा। तीन बच्चों की स्थिति में बच्चेदानी के अंदर ग्रोथ की समस्या से बहुत कम अवसर होते हैं, जब जच्चा व बच्चा दोनों पूरी तरह सुरक्षित रहे। कई बार समय से पूर्व डिलीवरी होती है अथवा एबॉर्शन हो जाता है। परिजनों ने जश अस्पताल के स्टाफ द्वारा किए गए सहयोग को इस कोरोना काल में मिसाल बताया।
4 हजार प्रसव होते, फिर भी ब्लड स्टोरेज यूनिट बंद
सिटी सिविल अस्पताल की ब्लड स्टोरेज यूनिट 4 साल से बंद है। यहां साल में 4 हजार महिलाओं के प्रसव होते हैं। साल में करीब 4 सौ प्रसूताओं को खून सुलभ न होने से रैफर करना पड़ता है।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना