समझाइश के बाद आखिरकार कार्रवाई:बस स्टैंड और मंडी बायपास से हटाया अतिक्रमण

सिरोंज2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

पखवाड़े भर पहले किए गए एनाउंसमेंट के बाद अंततः प्रशासन का अमला अतिक्रमण विरोधी मुहीम के लिए सक्रिय हो गया है। सुबह 11 बजे एसडीएम प्रवीण प्रजापति, नपा प्रभारी सीएमओ बीएम कुशवाह, एसडीओपी सौरभ तिवारी दल-बल के साथ अतिक्रमण हटाने के लिए निकले। प्रशासन का यह अमला सबसे पहले नपा कार्यालय के सामने पहुंचा और इसके बाद बस स्टैंड पर पहुंचा। अमले के साथ अधिकारियों को आया देख अतिक्रमणकारियों ने खुद ही अपना कब्जा हटाना शुरू कर दिया।

अधिकतर दुकानदारों ने अपनी दुकान के आगे 5 से 10 फीट तक के हिस्से पर टीनशेड लगाकर सड़क पर कब्जा जमा रखा था। मुहीम को देखते हुए उन्होंने खुद ही टीनशेड को निकालना शुरू कर दिया और यह सिलसिला लगातार चलता रहा। इसी दौरान प्रशासन की टीम ने बस स्टैंड के बरामदे में अवैध कब्जा करने वाले दुकानदारों को भी चेताया तो उन्होंने भी अपना सामान हटाना शुरू कर दिया। यहां से अमला सीधे मंडी बायपास रोड पर पहुंचा तो यहां भी मंडी के आसपास गुमठी लगाने वाले दुकानदार खुद ही टीनशेड हटाते दिखाई दिए।

नाले पर बनाए छज्जे को तुड़वाने के लिए प्रशासन को करना पड़ी मशक्कत

अतिक्रमण विरोधी अमला जब मंडी बायपास पर पहुंचा तो यहां पर एक निर्माणाधीन मकान के छज्जे को देखकर अधिकारी ठहर गए। मकान की पहली मंजिल का छज्जा सड़क से निकले नाले के ऊपर निकल रहा था। छज्जे की लंबाई करीब 50 फीट से ज्यादा थी। एसडीएम ने छज्जे को तोड़ने के निर्देश अमले को दिए तो तुरंत ही मकान मालिक उनके पास पहुंच गए और निर्माण को वैध बताया। जब कागज उपलब्ध करवाने की बात आई तो मकान मालिक पीछे हट गए और खुद ही अपना अतिक्रमण हटाने की बात कही। इसके बाद शुरू हुआ मान मनौव्वल का दौर करीब 1 घंटे तक चलता। जिसे देखने के लिए लोगों का मजमा जुटा रहा। अंततः प्रशासन ने 2 दिन के भीतर खुद ही अपना अतिक्रमण हटाने का निर्देश दिए।

लगातार चलेगी कार्रवाई
"हम स्थानों को चिन्हित कर वहां पर अतिक्रमण हटाने की कार्रवाई कर रहे हैं। इस संबंध में लगातार एनाउंसमेंट कर अतिक्रमणकारियों को समझाइश भी दे चुके हैं। मंगलवार को अधिकतर लोगों ने खुद ही अपना अतिक्रमण हटा लिया। कार्रवाई की प्रक्रिया लगातार चलेगी।"
-बीएम कुशवाह, प्रभारी सीएमओ, विदिशा

खबरें और भी हैं...