पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

एक दिन की भूख हड़ताल:जंडियाला में ‘रेल रोको’ आंदोलन का 129वां दिन, किसान जत्थेबंदियों का भंडारी पुल पर उपवास

अमृतसर3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • राष्ट्रपिता महात्मा गांधी का बलिदान दिवस मनाया, मौन रखकर संघर्ष में शहीद किसानों काे श्रद्धांजलि दी

किसान जत्थेबंदियों ने शनिवार को संयुक्त किसान संघर्ष मोर्चे के आह्वान पर भंडारी पुल पर धरना दिया और रैली निकालकर केंद्र सरकार के खिलाफ प्रदर्शन किया। जत्थों ने गणतंत्र दिवस पर दिल्ली में हिरासत में लिए किसानों की रिहाई और मामले की जांच सीबीआई से करवाने की मांग की।

किसान नेता रतन सिंह रंधावा ने आरोप लगाया कि तीनों कृषि कानूनों के विरोध में मोदी सरकार ने किसानों पर हरियाणा-दिल्ली बॉर्डर पर अत्याचार किया है। यही नहीं लाठियां बरसाकर आंसू गैस के गोले छोड़े और गोलियां चलाकर बर्बरता की गई है।

वहीं, किसानों ने राष्ट्रपिता महात्मा गांधी का बलिदान दिवस मनाया और केंद्र की किसान विरोधी नीतियों की निंदा की। उन्होंने एक दिवसीय उपवास रखकर शहीद किसानों के लिए 2 मिनट का मौन रखकर श्रद्धांजलि दी और आंदोलन का समर्थन किया। इस अवसर पर सीपीआई से अमरजीत सिंह, सुच्चा सिंह, हरतेज सिंह, बलविंदर सिंह, मुख्तयार सिंह, बाबा अर्जुन सिंह, रमेश यादव, गुरलाभ सिंह, हरजीत सिंह, अंग्रेज सिंह, गुरलाभ सिंह, हरजीत सिंह मौजूद रहे।

किसानों को बाॅर्डर से हटाना साजिश : गोपी
कृषि कानूनों के खिलाफ अमृतसर और तरनतारन के किसान-मजदूर कई माह से प्रदर्शन कर रहे हैं, जबकि आंदोलन को आम वर्ग का भी पूरा समर्थन मिल रहा है। वहीं, जंडियाला में किसान-मजदूर संघर्ष कमेटी की अगुवाई में ‘रेल रोको’ आंदोलन 129 दिन से चल रहा, जो शनिवार को भी जारी है। किसान नेता गुरप्रीत सिंह गोपी और गुरमुख सिंह ने कहा कि किसानों-मजदूरों को कुंडली बाॅर्डर से हटाना केंद्र सरकार की सोची-समझी साजिश है, जिसे कामयाब नहीं होने देंगे।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- इस समय निवेश जैसे किसी आर्थिक गतिविधि में व्यस्तता रहेगी। लंबे समय से चली आ रही किसी चिंता से भी राहत मिलेगी। घर के बड़े बुजुर्गों का मार्गदर्शन आपके लिए बहुत ही फायदेमंद तथा सकून दायक रहेगा। ...

    और पढ़ें