पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

वैक्सीनेशन:बुधवार को लगे 16118 टीके; जिले के 18+ वाले 32% लोगों को लग चुकी पहली डोज

अमृतसर20 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
सब्जी मंडी नहीं...यह वैक्सीनेशन सेंटर है...टीके के लिए सोशल डिस्टेंसिंग भूले लोग - Dainik Bhaskar
सब्जी मंडी नहीं...यह वैक्सीनेशन सेंटर है...टीके के लिए सोशल डिस्टेंसिंग भूले लोग
  • मेगा कैंपों में सेकंड हाइएस्ट वैक्सीनेशन, आज के लिए सिर्फ 300 डोज

सेहत विभाग की तरफ से बुधवार को दूसरी बार लगाए गए मेगा वैक्सीनेशन कैंपों में एक दिन में दूसरी बार सबसे ज्यादा टीके लगाए गए। इस दौरान 15 हजार टीके लगाने का टारगेट रखा गया था, लेकिन लाभ लेने वालों की संख्या 16118 पहुंच गई। 16 जनवरी से चल रहे वैक्सीनेशन की कड़ी में बुधवार को लगे 16118 टीकों के साथ जिले में पहली और दूसरी डोज लगवाने वालों की संख्या 6,12,068 पहुंच गई है। इसमें से पहली डोज का लाभ 496924 और 115144 दूसरी डोज शामिल है।

बताते चलें कि इससे पहले 3 जुलाई को लगे मैगा कैंपों में एक ही दिन में 43830 लोगों ने टीका लगवा कर रिकाॅर्ड कायम किया था। बुधवार को एक बार फिर से बंपर टीकाकरण के बाद फिर वैक्सीन का संकट खड़ा हो गया है। वीरवार को चुनिंदा सेंटरों पर ही वैक्सीनेशन होगा और वह भी पहले की बची हुई कोवैक्सीन से। इस संदर्भ में सहायक सिविल सर्जन डॉ. अमरजीत सिंह का कहना है कि फिलहाल उसमें की 300 डोज बची हुई है।

लगातार मेगा कैंप लगें तो 2 महीने में कवर हो जाएगा पूरा जिला
सिविल सर्जन डॉ. चरणजीत सिंह कहते हैं कि विभाग जिले की 26 लाख 50 हजार आबादी मान कर चल रहा है। इसमें से 4 लाख 95 हजार लोग 45 साल से अधिक उम्र वाले हैं, जबकि 18-45 साल तक की उम्र वालों की तादाद 10 लाख 25 हजार है। फिलहाल यानी कि जिस आबादी को टीका लगना है उसकी तादाद 15 लाख 20 हजार है, जिसमें से 496924 (32%) लोगों को पहली डोज लग चुकी है। यानी कि अभी 10 लाख को टीका लगना है। अगर वैक्सीन मिले और हर हफ्ते पहले वाले मेगा कैंप की तरह हर हफ्ते एक मेगा कैंप लगे तो 2 महीने के भीतर सारी आबादी कवर की जा सकती है।

बुधवार को भी संक्रमण के मुकाबले रिकवरी घटी, 2 मरीजों की मौत
जून महीने में पस्त हो चुकी कोरोना महामारी जुलाई महीने के शुरुआत में उसी रफ्तार में चल रही थी, लेकिन इधर दो-तीन दिनों से फिर स्थिति में खतरे के संकेत मिल रहे हैं। हालांकि इससे संबंधित आंकड़े बहुत माइनर हैं लेकिन कहते हैं कि समझदार को इशारा काफी है और इसे हम सभी को समझना और महसूस करना चाहिए। सेहत विभाग की रिपोर्ट के मुताबिक जिले में आज कुल संक्रमित 28 मिले हैं, इनमें से 11 कम्युनिटी से हैं और 17 संपर्क वाले।

अगर रिकवरी की बात करें तो आज भी कल की ही तरह से सिर्फ 25 लोग ठीक हुए हैं। 24 घंटे पहले मंगलवार को भी संक्रमितों के मुकाबले ठीक होने वालों की संख्या कम थी। वहीं दो दिन के बाद जिले में फिर 2 मरीजों की मौत हुई है। इनमें किरन (50) निवासी इस्लामाबाद और सतविंदर कौर (60) निवासी बटाला रोड के नाम शामिल हैं।

खबरें और भी हैं...