पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

शिकायत के 4 माह बाद मां-बेटे पर केस:दुष्कर्म के आरोप से बेटे को बचाने के नाम पर महिला से 28.44 लाख रुपए ठगे

अमृतसर5 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

सुल्तानविंड रोड निवासी महिला के दुष्कर्म में आरोपी बेटे का केस रफा-दफा करवाने, जमानत दिलवाने के नाम पर रिश्तेदार बहन और भांजे की अोर से 28.44 लाख रुपए ठगने का केस सामने आया है। आरोपियों के साथ पुलिस ने एक वकील पर भी केस दर्ज किया है। शिकायतकर्ता महिला से आरोपी मां-बेटे ने तत्कालीन एसएचओ बी-डिवीजन के नाम पर 6 लाख, हाईकोर्ट के वकील के नाम 6 लाख लेने के अलावा जमानत के लिए 8.50 लेकर जाली एफडीआर भी भेजी थी। इसके अलावा विरोधी पक्ष के वकील और महिला मंडल की एक प्रधान के नाम पर भी पैसे ऐठ लिए। मामले की कड़ियां खुलने के बाद शिकायतकर्ता महिला सुल्तानविंड रोड निवासी चरणजीत कौर ने पुलिस में शिकायत दी। जिसके बाद रिश्ते के भांजे नीति खेड़ा और बहन मंजु खेड़ा निवासी बस्ती गुज्जा जालंंधर और पड़ोसी वकील लखन गांधी के अलावा सुल्तानविंड रोड निवासी अमनदीप सिंह के खिलाफ धोखाधड़ी व अन्य धाराओं के तहत केस दर्ज किया है। शिकायतकर्ता चरणजीत कौर ने 13 मई 2021 को आरोपियों के खिलाफ शिकायत दी थी।

जिसमें उसने बताया था कि उसके बेटे लवप्रीत सिंह के खिलाफ दुष्कर्म के आरोप में दर्ज एफआईआर रफा-दफा करवाने, जमानत दिलवाने के नाम पर उससे 28,44,500 रुपए की धोखाधड़ी की गई है। जिसमें जमानत के लिए एफडीआर तैयार करवाने के लिए 8.50 लाख रुपए ठग जाली एफडीआर भी सोशल मीडिया एकाउंट पर भेज दी थी।

शिकायतकर्ता के मुताबिक उसकी शादी वर्ष 1994 में तेजिंदर पाल सिंह निवासी गोबिंद नगर मंिदर वाला बाजार सुल्तानविंड रोड के साथ हुई थी। उसकी एक बेटी और बेटा लवप्रीत सिंह है। उसके बेटे लवप्रीत सिंह के खिलाफ 8 मार्च 2020 को थाना बी-डिवीजन में दुष्कर्म के आरोप में केस दर्ज हुआ था। वहीं आरोपी मंजु खेेड़ा रिश्तेदारी में उसकी बहन और आरोपी नीतिन खेड़ा उसका भांजा है।

आरोपी मां-बेटे ने उसे पड़ोसी वकील लखन गांधी से मिलवाया था। शिकायतकर्ता के मुताबिक 7 मार्च को आरोपी नीतिन खेड़ा ने लवप्रीत के खिलाफ एफआईआर दर्ज होने से रुकवाने के लिए जालंधर स्थित बैंक के खाते में 1.47 लाख डालने के लिए कहा। शिकायतकर्ता के मुताबिक पुलिस ने उसके बेटे को गिरफ्तार कर लिया तो उसने आरोपी बहन और भांजे के साथ बात की। जिस पर आरोपी मंजु खेड़ा ने डेढ़ लाख और मांगे। उसने 12 मार्च को खाते में 2 लाख जमा करवा दिए। उसने 21 मार्च और 19 अगस्त 2020 को उसने अलग अलग एंट्रीज से मंजु खेहरा के खाते में 6,02,900 रुपए और नीतिन खेहरा के एकाउंट में 6 अप्रैल 2020 से 4 सितंबर 2020 तक 8,06,000 रुपए जमा करवाए।

खबरें और भी हैं...