पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

कोरोना डाउनफाल:6 दिन में कम हुए 3 कंटेनमेंट और 10 माइक्रो कंटेनमेंट जोन

अमृतसर19 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • महामारी के 111 नए केस; 4 लोगों की मौत, जून में घटे 878 एक्टिव केस
  • ये फिर लॉक करवाएंगे, वीकएंड लॉकडाउन में भद्रकाली मंदिर के बाहर सजीं रेहड़ी-फंडियां, सारा दिन सोशल डिस्टेंसिंग-मास्क की अनदेखी करती रही ग्राहकों की भीड़

जून का महीना कोरोना के मामले में आहिस्ता-आहिस्ता राहत दे रहा है। इस कड़ी के तहत रविवार को जून के छठे दिन 111 नए केस, जबकि 4 लोगों की मौत हो गई। आंकड़ों के मुताबिक इस महीने के छह दिन में एक्टिव केसों में 878 की कमी आई है।

इसी कारण बीते 6 दिन में जिले में 3 कंटेनमेंट जोन और 10 माइक्रो कंटेनमेंट जोन कम हो गए हैं। 31 मई को जिले में 11 कंटेनमेंट जोन और 32 माइक्रो कंटेनमेंट जोन थे। अब जिले में 8 कंटनेमेंट जोन और 22 माइक्रो कंटेनमेंट जोन रहे गए हैं।

जिले में कोरोना के एक्टिव केसों की संख्या में भी लगातार कम हो रही है। 31 मई को जिले में एक्टिव मरीजों की संख्या 3211 थी, जो अब 2061 रह गई है। रविवार को मिले 111 संक्रमित में से 60 कम्युनिटी से हैं, जबकि 51 संपर्क वाले।

जिन 4 लोगों की मौत हुई है, उनमें मुख्तार सिंह (46) निवासी बल खुर्द, दर्शन कौर (65) निवासी फकीर िसंह कॉलोनी, सुरिंदर सिंह (65) निवासी निकट नामधारी कंडा तरन तारन रोड और गुरमीत कौर (65) निवासी सैदों लहल के नाम शामिल हैं। जिले में कोरोना से अब तक 1490 लोगों की मौत हो चुकी है, जबकि 45436 लोग संक्रमित मिल चुके हैं। इनमें से 41885 लोग ठीक हो चुके हैं।

खजाना गेट स्थित प्राचीन माता भद्रकाली मंदिर में सालाना मेला चल रहा है, जिसमें लोग मां भद्रकाली का आशीर्वाद लेने पहुंच रहे हैं। रविवार को वीकएंड लॉकडाउन के बावजूद मंदिर के बाहर रेहड़ियाें और फड़ियां की मार्केट सजी। इन रेहड़ी-फड़ियों पर ग्राहकों की खासी भीड़ रही।

इस दौरान न तो किसी ने सोशल डिस्टेंसिंग का ध्यान रखा और न ही मास्क का। अगर लोग ऐसे ही कोरोना हिदायतों की अनदेखी करते रहे तो फिर से पूर्ण लॉकडाउन की नौबत आ जाएगी। इसलिए जरूरी है कि प्रशासन और पुलिस ऐसे लोगों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करे।

जून में अस्पतालों में घटे 79 मरीज, अब 118 आईसीयू में और 11 वेंटिलेटर पर

जिले में कोरोना के 2061 एक्टिव मरीज हैं, जिनमें से 247 सरकारी और प्राइवेट अस्पतालों में दाखिल हैं। इनमें से 70 ऑक्सीजन सपोर्ट और 11 वेंटिलेटर पर हैं, जबकि 118 आईसीयू में। जीएनडीएच में अब 105 मरीज रह गए हैं।

इनमें से 12 ऑक्सीजन सपोर्ट और 2 वेंटिलेटर पर हैं, जबकि 81 आईसीयू में हैं। 6 दिन पहले जिले के अस्पतालाें में 326 लोग इलाजरत थे। इनमें से 90 ऑक्सीजन सपोर्ट और 14 वेंटिलेटर पर थे, जबकि 170 आईसीयू में दाखिल थे।

खबरें और भी हैं...