पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

बारिश ने डुबोई फसल:414.6 एमएम बारिश का रिकॉर्ड इस साल 3 िदन में ही 165 एमएम बरसात, तीन घर ढहे

अमृतसर16 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

12 बरस के सितंबर महीने में 414.6 एमएम बरसात का रिकॉर्ड है। इस साल महज तीन दिन में ही 165 पानी बरस चुका है। अगर मौसम का मिजाज कुछ दिन ऐसा ही बना रहा तो इस सितंबर रिकॉर्ड टूट सकता है। लगातार हो रही बारिश के तीसरे दिन रविवार को 3.6 एमएम पानी बरसा। इस दौरान तरनतारन जिले के गांव बासरके में 3 घर ढह गए। इस साल सितंबर के 12 दिनों में 241.1 एमएम बरसात हो चुकी है। बीते 12 सालों में इससे ज्यादा बरसात 2018 और 2014 के पूरे सितंबर महीने में हुई थी। इस सितंबर महीने में अभी 18 दिन शेष हैं, यदि बरसात इसी तरह से जारी रही, ताे नया रिकॉर्ड बन सकता है।

मौसम विभाग के आंकड़ों के मुताबिक इस साल जून, जुलाई, अगस्त और सितंबर के 12 दिनों को मिलाकर कुल 576.6 एमएम बरसात हो चुकी है। अकेले सितंबर महीने के 12 दिनों में ही 241.1 एमएम पानी बरस चुका है। इनमें लगातार तीन दिनों में ही 165 एमएम बारिश हो चुकी है। इससे अधिक बारिश साल 2018 के सितंबर में 308.7 एमएम और 2014 में 414.6 एमएम हुई थी।

बारिश से सबसे अधिक गांव रक्ख ओठियां के किसान प्रभावित

3 दिनों से जारी बारिश के चलते अजनाला कस्बे के संकरे राजबाह ड्रेन से ओवर फ्लो होकर पानी खेतों और बाग-बगीचों में पहुंच रहा है। इसके चलते 500 एकड़ धान की फसल और 50 एकड़े किन्नू, नाशपती और आड़ू की काश्त प्रभावित हुई है। जमहूरी किसान सभा के नेता सतनाम सिंह और उनके साथियों बाज सिंह संधू, सतिंदर सिंह, जोगिंदर सिंह, सरपंच सविंदर सिंह ने बताया कि नहरी विभाग, कृषि विभाग, सूबा सरकार और जिला प्रशासन से शिकायत की है। बरसात का असर सबसे अधिक गांव रक्ख ओठियां के किसानों पर पड़ा है। आरोप है कि अभी तक सरकारी अमले दावे ही कर रहे हैं जमीनी हकीकत जानने नहीं उतरे।

खबरें और भी हैं...