• Hindi News
  • Local
  • Punjab
  • Amritsar
  • A Soldier Of Rashtriya Rifles Used To Roam Around With A Sticker Of Punjab Police, One Accomplice Arrested, The Other Still Absconding

हाईकोर्ट से बैन नशीली गोलियों के साथ फौजी गिरफ्तार:गाड़ी पर पंजाब पुलिस का स्टीकर लगाकर घूमता था RR का जवान, ट्रॉमाडोल की 2900 टैबलेट, पिस्टल और 5 कारतूस बरामद; एक साथी भी धरा गया

अमृतसर/तरनतारन6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
तरनतारन में पुलिस की गिरफ्त में नशे के कारोबार में पकड़ा गया फौजी और उसका साथी। - Dainik Bhaskar
तरनतारन में पुलिस की गिरफ्त में नशे के कारोबार में पकड़ा गया फौजी और उसका साथी।

तरनतारन पुलिस ने शुक्रवार को नशे का धंधा कर रहे एक फौजी और उसके एक साथी को गिरफ्तार किया है। हालांकि इनका तीसरा साथी मौका पाकर फरार हो गया। पुलिस के मुताबिक राष्ट्रीय राइफल्स में तैनात जवान गाड़ी पर पंजाब पुलिस का स्टीकर लगाकर घूमता था। भेद खुला तो इससे और इसके साथी से नशे के लिए इस्तेमाल की जाने वाली 2900 गोलियां, एक पिस्टल और पांच कारतूस बरामद हुए हैं। फिलहाल पुलिस इनके तीसरे साथी की तलाश में जुटी है।

मिली जानकारी के अनुसार कच्चा-पक्का थाने की पुलिस नाका लगाकर वाहनों की चेकिंग कर रही थी। उसी दौरान एक लग्जरी कार (महिंद्रा स्कोरर्पियो) को रोककर चालक से पहचान मांगी, जिसमें वह आना-कानी कर रहा था। शक होने पर कार की तलाशी ली गई। कार से ट्रॉमाडोल की 2900 गोलियां, एक पिस्टल और 5 कारतूस मिले। इसके तुरंत बाद पुलिस ने कार चालक को गिरफ्त में ले लिया। ट्रॉमाडोल की गोलियों पर पंजाब एवं हरियाणा हार्ईकोर्ट ने बैन लगा रखा है।

आरोपियों से बरामद की गई स्कॉर्पियो कार।
आरोपियों से बरामद की गई स्कॉर्पियो कार।

पुलिस के मुताबिक आरोपी की पहचान गांव बोपाराय निवासी जोरावर सिंह के रूप में हुई। पूछताछ में उसने बताया कि वह 15 पंजाब 7 राष्ट्रीय राइफल (RR) का जवान है और फिलहाल श्रीनगर में सेवारत है। इन दिनों छुट्‌टी लेकर वह गांव आया हुआ था। उसने नशे की ये गोलियां पूर्ण सिंह पिशोरा से खरीदी थी। इस खुलासे के बाद पुलिस ने छापा मारकर पूर्ण को भी गिरफ्तार कर लिया। इस बारे में एसएसपी ध्रुमन एच निंबले ने जानकारी दी है कि अभी एक और आरोपी पकड़ा जाना बाकी है। वह एक बस ड्राइवर है और दोनों उसी से नशीली गोलियां खरीदते थे।

पुलिस से बचने के लिए पुलिस का सहारा
आरोपी पूरी प्लानिंग के साथ काम करता था। पुलिस से बचने के लिए उसने अपनी गाड़ी पर ही पंजाब पुलिस का स्टीकर लगा रखा था, ताकि कोई उसे रोक ना सके। अगर रोके भी तो स्टीकर देखकर जाने दे। फिलहाल पुलिस ने कार को भी कब्जे में ले लिया है।

खबरें और भी हैं...