चुनावी रण में हरसिमरत कौर:बोलीं- 50 दिनों की सरकार क्या समस्याएं सुलझाएगी, मजबूर CM का एक पैर दिल्ली तो दूसरा पार्टी प्रधान खींच रहा

अमृतसर8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

शिरोमणि अकाली दल के अध्यक्ष सुखबीर बादल के बाद अब उनकी पत्नी और सांसद हरसिमरत कौर बादल भी मैदान में उतर चुकी हैं। अमृतसर में उन्होंने अपनी 2 रैलियों का आयोजन दक्षिण और उत्तरी हलके में किया। यह रैलियां सिर्फ महिलाओं के लिए थी। लेकिन इस दौरान उन्होंने कांग्रेस सरकार और उनकी कार्यशैली पर निशाना साधा।

सांसद हरसिमरत कौर बादल को सम्मानित करती हुई महिलाएं।
सांसद हरसिमरत कौर बादल को सम्मानित करती हुई महिलाएं।

सांसद व पूर्व केंद्रीय मंत्री हरसिमरत कौर ने कहा कि कांग्रेस की 50 दिन की सरकार लोगों की समस्याएं नहीं सुलझा सकती। किसानों के लिए न तो खाद है और न ही उनकी अन्य समस्याएं हल नहीं हो पाईं। अपनी कमजोरियों को छिपाने के लिए साढ़े चार साल बाद नया सीएम बना दिया गया। लेकिन वह भी मजबूर सीएम है। जिसका एक पैर दिल्ली में है तो दूसरा पैर पार्टी प्रधान खींच रहे हैं।

उन्होंने अपनी रैली में महिलाओं के हक की बात की। उन्होंने बड़ी संख्या में पहुंची महिलाओं को देख खुशी जाहिर करते हुए कहा कि इतनी अधिक महिलाएं उन्होंने अपनी बठिंडा रैली में भी नहीं देखी।

हरसिमरत कौर बादल महिलाओं को संबोधित करते हुए।
हरसिमरत कौर बादल महिलाओं को संबोधित करते हुए।

सरकारी नौकरी में 50 प्रतिशत महिलाओं के लिए आरक्षण
हरसिमरत बादल ने इस रैली में महिलाओं के लिए आरक्षण की बात कह कर ट्रंप कार्ड खेला है। उनका कहना है कि वह सरकार आने पर हर सरकारी नौकरी में 50 प्रतिशत महिलाओं के लिए सीटें आरक्षित करेंगी। इसके अलावा महिलाओं के लिए 2 हजार रुपए प्रति महीना पेंशन देने की स्कीम भी लांच करेंगी।

बड़े बादल के कामों को लेकर भी वोट
बीते दिनों अमृतसर आए सुखबीर बादल और अब हरसिमरत ने पूर्व सीएम प्रकाश सिंह बादल व उनके कामों का जिक्र किया। उन्होंने कहा कि अकाली सरकार ने हर वह काम किया जो उन्होंने कहा। उनकी सोच को अकाली दल आगे लेकर जाना चाहता है। आटा दाल स्कीम, हेल्थ योजनाएं, महिलाओं को पढ़ाने के लिए नन्हीं छांव स्कीम सभी प्रकाश सिंह बादल की योजनाएं थी। इसके अलावा सुखबीर बादल ने हमेशा पंजाब की भलाई की बात की है। जैसा अमृतसर नगरी को उन्होंने बनाया, अब अगर सरकार आती है तो पूरा पंजाब ऐसा बन जाएगा।