अकाल तख्त के जत्थेदार की चेतावनी:सिखों के खिलाफ लिखना बंद करो; प्रधानमंत्री की सुरक्षा में चूक केंद्र-राज्य सरकार में तालमेल की कमी का नतीजा

अमृतसर10 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

पंजाब के फिरोजपुर में रैली करने जा रहे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सुरक्षा में हुई चूक का कारण राज्य और केंद्र सरकारों में तालमेल की कमी है। इसलिए सोशल मीडिया पर सिखों के खिलाफ गलत शब्दावली का प्रयोग करना बंद करें। यह चेतावनी श्री अकाल तख्त साहिब के जत्थेदार ज्ञानी हरप्रीत सिंह ने दी है। उन्होंने कहा कि कुछ लोग सोशल मीडिया पर घटना का जिम्मेदार सिखों को बता रहे हैं। देश के प्रधानमंत्री की सुरक्षा में चूक निंदनीय घटना है।

इसका मुख्य कारण दोनों केंद्रीय व राज्य सरकारों के अधिकारियों में तालमेल और बातचीत के अभाव है। लेकिन सोशल मीडिया पर इस घटना के बाद सिखों को निशाना बनाया जा रहा है। उनके लिए गलत शब्दावली तक का प्रयोग किया जा रहा है। एक धर्म के लोगों के खिलाफ इस तरह की शब्दावली का प्रयोग करना आतंकवाद से कम नहीं है और सरकार ऐसा करने वालों पर बिल्कुल भी नकेल नहीं डाल रही।

यह हेट टेररिज्म है बंद करो

ज्ञानी हरप्रीत सिंह ने कहा कि सोशल मीडिया पर सिखों को 1984 जैसे कत्लेआम की धमकियां देना गलत है। इस तरह के आतंकवाद को हेट टेररिज्म कहा जाता है। सरकार को चाहिए कि इस तरह के आतंकवाद को खत्म करे। यह टेररिज्म देश के लिए घातक है। प्रधानमंत्री की सुरक्षा में चूक का सिख कौम से कोई लेना-देना नहीं है। इसलिए सिखों के खिलाफ सोशल मीडिया पर चल रहे प्रचार को रोका जाए।

खबरें और भी हैं...