बगावत की आहट ने लटकाई कांग्रेस की सूची:117 सीटों पर कांग्रेस में 1620 दावेदार; पहली लिस्ट भी नहीं आई, टिकट कटने वालों के लिए कैप्टन विकल्प

अमृतसर11 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

पंजाब में सत्ताधारी पार्टी कांग्रेस में 117 विधानसभा हलकों में 1620 लोगों ने टिकट के लिए दावेदारी ठोकी है। अभी तक बगावत की आहट के कारण पार्टी आलाकमान ने लिस्ट फाइनल नहीं है। बिल्कुल आखिरी समय में उम्मीदवारों की घोषणा करके पार्टी इन दावेदारों को कैप्टन या किसी अन्य दल का रुख करने से रोकने की फिराक में है।

कैप्टन अमरिंदर सिंह की पार्टी पंजाब लोक कांग्रेस का भाजपा के साथ गठबंधन कांग्रेस के लिए बड़ा सिरदर्द बना हुआ है। कांग्रेस में दावेदारों के पास टिकट कटने पर कैप्टन की पार्टी में जाने का विकल्प है। राजनीतिक विशेषज्ञ भी मानते हैं कि कैप्टन अमरिंदर सिंह भी कांग्रेस की लिस्ट जारी होने का इंतजार कर रहे हैं, उसके बाद ही अपने प्रत्याशी मैदान में उतारेंगे। वहीं कैप्टन की सहयोगी भारतीय जनता पार्टी ने भी अभी अपने उम्मीदवारों की घोषणा नहीं की है।

सूबे की 117 सीटों पर 1620 दावेदारियां

कांग्रेस में बगावत के डर से मचे घमासान की वजह से पार्टी आलाकमान उम्मीदवारों की घोषणा नहीं कर पा रहा है। सूत्रों के अनुसार पंजाब की 117 सीटों पर 1620 आवेदन प्राप्त हुए हैं। इनमें से 80 की लिस्ट फाइनल होने के लिए हाईकमान के पास पहुंच चुकी है।

खरड़ विधानसभा से सबसे अधिक दावेदार

कांग्रेस स्क्रीनिंग कमेटी के पास 1620 दावेदारियां पहुंची थी। इनमें से सबसे अधिक खरड़ विधानसभा हलके से हैं। यहां से 32 कांग्रेसियों ने टिकट मांगा है। दूसरे नंबर पर जैतों विधानसभा हलका है, जहां 28 ने टिकट की मांग की है। पंजाब के मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी के अगेंस्ट एक दावेदारी स्क्रीनिंग कमेटी के पास पहुंची। दावेदारी शमशेर सिंह राय ने की थी, लेकिन सीट अनाउंस होने से पहले ही उन्होंने कांग्रेस छोड़ दी। अमृतसर ईस्ट में पीपीसीसी प्रधान नवजोत सिंह सिद्धू के अलावा अमृतसर सेंट्रल में डिप्टी सीएम ओम प्रकाश सोनी और अमृतसर साउथ हलके में इंद्रबीर सिंह बुलारिया कुछ ऐसी सीटें हैं, जहां से किसी अन्य ने दावेदारी पेश ही नहीं की।

लिस्ट जारी होते ही पंजाब में बढ़ेगी राजनीतिक हलचल

कैप्टन अमरिंदर सिंह पहले ही कह चुके हैं कि 25 के करीब विधायक उनके संपर्क में हैं। वहीं सूत्र बताते हैं कि यह आंकड़ा लगातार बढ़ रहा है। कांग्रेस के टिकट अनाउंस करते ही पंजाब की राजनीति में हलचल बढ़ेगी। कैप्टन के पास भी टिकट बांटने के लिए कई विकल्प हो जाएंगे।

खबरें और भी हैं...