पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Punjab
  • Amritsar
  • Amritsar Police Launched WhatsApp Helpline Number 9592589112, Citizens Will Be Able To Share Secret Information, Shakti Team Will Be Launched Today For The Safety Of Women

अब व्हाट्सएप के जरिए होगी अमृतसर की सुरक्षा:पुलिस ने जारी किया हेल्पलाइन नंबर; गुप्त जानकारी कर सकेंगे शेयर, महिलाओं की सेफ्टी के लिए सड़कों पर उतारी 'शक्ति' टीम

अमृतसर10 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

अमृतसर जिले की सुरक्षा अब व्हाट्सएप के जरिए होगी। क्योंकि जिला पुलिस ने सुरक्षा के मद्देनजर व्हाट्सएप हेल्पलाइन लॉन्च कर दी है। इस पर नागरिक आसपास हो रहे गलत कामों की जानकारी शेयर कर सकेंगे। इतना ही नहीं, अगर किसी को पुलिस की आवश्यकता है तो वे इस नंबर पर मैसेज करके मदद मांग सकते हैं। खास बात है कि इसमें गोपनीयता का पूरा ख्याल रखा जाएगा।

पुलिस कमिश्नर विक्रम जीत दुग्गल ने व्हाट्सएप हेल्पलाइन को लॉन्च करते हुए जानकारी दी कि कोई भी नंबर 9592589112 पर जानकारी तस्वीरें और वीडियो भेज सकता है। हेल्पलाइन जारी करने मकसद बिना समय बिगाड़े मौके पर पहुंचकर कार्रवाई करना। क्योंकि नागरिकों के पास जानकारियां होती हैं , लेकिन नाम सामने आने और दुश्मनी मोल लेने के डर से वे चुप रह जाते हैं। लेकिन व्हाट्सएप नंबर वाली हेल्पलाइन पर न किसी का नाम सामने आएगा और न ही कोई जानकारी लीक होगी। यह पूरी तरह निजी और गोपनीय रहेगा। जानकारी शेयर करने वाले की निजी आईडी किसी को भी पता नहीं चलेगी। इसलिए लोगों से अपील है कि वे आगे आएं और अपने आसपास हो रही गलत गतिविधियों पर रोक लगाने में पुलिस विभाग को सहयोग करें।

शक्ति टीम की सदस्य।
शक्ति टीम की सदस्य।

2014 के बाद शक्ति टीमें फिर सड़कों पर, लेकिन वर्किंग स्टाइल नया
2014 में महिलाओं की सुरक्षा के लिए बनाई गई शक्ति टीम को दोबारा से सड़कों पर उतारा गया है। महिलाओं को पहले की तरह ही एक्टिवा दी गई है और वर्दी व सिविल कपड़ों में यह महिला पुलिसकर्मी स्कूलों, कॉलेज व भीड़भाड़ वाली जगह पर खड़ी रहेंगी। लेकिन इस बार इनके काम करने के तरीकों में बदलाव किया गया है। इस बार महिलाएं स्कूलों, कॉलेजों और भीड़भाड़ वाले एरिया में तैनात रहते हुए गलत हरकतें करने वाले व्यक्तियों पर नजर रखेंगी। उनके बैकअप के लिए एक PCR टीम हमेशा तैनात रहेगी और अगर जरूरत हुई तो संबंधित थाना भी तैनात रहने वाला है। यह टीमें ज्वाइंट पुलिस कमिश्नर डी. सूडरविली की देखरेख में काम करेंगी। पुलिस कमिश्नर विक्रम जीत दुग्गल ने बताया कि हर थाने को अलग से टीम दी जाएगी। इसके अलावा वूमन सेफ्टी ऑफिसर भी तैयार किए गए हैं, जो सेमिनार करते हुए युवतियों व महिलाओं को उनके अधिकारों के प्रति जागरुक करेंगे।

खबरें और भी हैं...