पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

अमृतसर:रजिस्ट्री अप्वाइंटमेंट वेबसाइट में गोलमाल, सुबह 5:30 बजे खुलने का टाइम, लेकिन 1 मिनट पहले ही फुल हो जाते हैं स्लॉट

अमृतसर15 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
वेबसाइट पर अप्वाइंटमेंट खुलने से एक मिनट पहले ही ब्लड रिलेशन रजिस्ट्री के पांच और तत्काल अप्वाइंटमेंट के 10 स्लॉट फुल हो जा रहे हैं।
  • तत्काल के 10 और ब्लड रिलेशन के पांच स्लॉट में चल रहा खेल, शिकायत पर भी कार्रवाई नहीं

राज्य सरकार की ओर से रजिस्ट्री अप्वाइंटमेंट के लिए अधिकृत की गई वेबसाइट में पिछले 15 दिन से गड़बड़झाला चल रहा है। एक तरफ आम लोगों को रातभर जागने के बाद भी ब्लड रिलेशन और तत्काल अप्वाइंटमेंट स्लॉट नहीं मिल पा रहे तो दूसरी तरफ उपलब्ध स्लॉट बुकिंग टाइमिंग से पहले ही फुल हो जा रहे हैं। इस गड़बड़ी से आम लोग ही नहीं वसीका नवीस तक परेशान हैं। क्योंकि क्लाइंट रोज फोन कर अप्वाइंटमेंट की तारीख पूछते हैं, मगर वसीका नवीसों के पास सिर्फ एक ही जवाब होता है कि अभी स्लाॅट फुल चल रहे हैं। टोकरियां वाला बाजार के रहने वाले जीवन कुमार ने बताया कि उन्हें ब्लड रिलेशन में रजिस्ट्री की करानी है, मगर 10 दिन से वह परेशान हो रहे हैं। कुछ दिन तो उन्होंने रात साढ़े 12 बजे से लेकर सुबह साढ़े पांच बजे तक स्लाॅट लेने का प्रयास किया, लेकिन यह स्लॉट पहले की फुल हो गए। फिर किसी ने बताया कि स्लॉट सुबह साढ़े बजे खुलते हैं, मगर उपलब्ध पांचों स्लॉट रोजाना 5.28 या 5.29 बजे ही फुल हो जाते हैं। नवांकोट के पिंकेश कुमार को तत्काल स्लॉट चाहिए, मगर वह भी इसी गड़बड़ी से परेशान है। तत्काल के 10 स्लॉट टाइमिंग से पहले ही फुल हो रहे हैं। इन्हीं दो रजिस्ट्री स्लॉट में गड़बड़ियां चल रही हैं। वसीका नवीस इस संबंध में वेबसाइट चलाने वाली कंपनी और अफसरों को शिकायत कर चुके हैं, लेकिन समाधान नहीं निकाला जा रहा। अप्वाइंटमेंट लेने का काम करने वाले जानकारों का कहना है कि सुबह 5:30 बजे वेबसाइट खुलने का समय हैं। 5.27 तक स्टाॅल अवेलेबल होते हैं, मगर किसी ने 5.28 तो किसी दिन 5.29 पर यह फुल हो जाते हैं।

वसीका नवीसों ने 3 दिन पहले सब-रजिस्ट्रार से की जांच की मांग

हैरान करने वाली बात है कि तीन दिन पहले वसीका नवीसों और वकीलों ने सब रजिस्ट्रार परमप्रीत गोराया से मुलाकात कर वेबसाइट के गोलमाल की जांच कराने की मांग की थी। उस समय गोराया ने चंडीगढ़ में पंजाब लैंड रिकॉर्ड सोसायटी (पीएलआरएस) के इंचार्ज को फोन पर इसकी जानकारी दी थी, मगर इसके बाद कोई कार्रवाई नहीं हुई।

कंपनी के जिम्मेदार नहीं दे रहे जवाब : अप्वाइंटमेंट वेबसाइट में चल रह गड़बड़झाले को लेकर पीएलआरएस कंपनी की इंचार्ज से कई बार फोन कर संपर्क करने की कोशिश की गई, मगर उन्होंने कॉल रिसीव नहीं की। वहीं जिम्मेदार सरकारी अफसर भी कुछ नहीं बोल रहे। मामले को लेकर जांच शुरू कराई गई या नहीं इसका भी उनके पास कोई जवाब नहीं।

शिकायत के बाद नहीं मिला रिस्पॉस: एडवोकेट महिंदर पाल गुप्ता का कहना है कि वेबसाइट पर रजिस्ट्री अप्वाइंटमेंट खुलने का समय साढ़े 5 बजे हैं, लेकिन इन दिनों गड़बड़ी के कारण यह स्लॉट पहले ही फुल हो जा रहे हैं। हेडऑफिस कंपनी के इंचार्ज के मोबाइल पर स्क्रीन शॉट व्हाटऐप किया था। इसके बाद कॉल करके शिकायत की थी, मगर कुछ नहीं हुआ।

लुधियाना के अिधकारी करवा रहे जांच : लुधियाना में तत्काल अप्वाइंटमेंट को लेकर इस तरह की शिकायतें उठने के बाद अफसरों ने एक्शन लेते हुए जांच कराई थी। इसमें कुछ लोगों के संलिप्त होने की पुष्टि भी हुई, लेकिन अमृतसर जिले में प्रशासनिक अफसरों के पास मामले को गंभीरता से लेकर जांच कराने की तो दूर आम लोगों के सवालों का जवाब देने के लिए फोन उठाने तक का समय नहीं रहता।

अफसरों से दोबारा करेंगे बात: प्रधान
वसीका नवीस प्रधान नरेश शर्मा का कहना है कि यदि लोगों को राहत नहीं मिलती है तो दोबारा अफसरों से मुलाकात कर समस्याओं को रखेंगे। यदि कहीं कोई गड़बड़ियां हैं तो जांच कराई जाए जिससे सच्चाई सामने आए और लोगों का नुकसान नहीं हो।

हड़ताल में खराब हुए 70% लोगों की अप्वाइंटमेंट रि-शेड्यूल हुई

पंजाब सरकार ने कर्मचारियों की हड़ताल के कारण रजिस्ट्री कराने के लिए अप्वाइंटमेंट ले चुके लोगों को राहत दिलाने के लिए रि-शिड्यूलिंग की व्यवस्था शुरु की है। जिसका हड़ताल के दौरान अप्वाइंटमेंट लेने वाले 70 फीसदी लोगों को फायदा पहुंचा है। दरअसल, रजिस्ट्री अप्वाइंटमेंट फीस 500 रुपए निर्धारित होने और हड़ताल या दूसरे टेक्निकल कारणों से अप्वाइंटमेंट मिस होने पर लोगों को नुकसान उठाना पड़ता था। अगस्त पहले सप्ताह में ही सरकारी मुलाजिमों ने अपनी मांगों को लेकर 10 दिनों तक हड़ताल कर दिया और तहसीलों में कोई काम नहीं हुआ। हड़ताल के कारण इस बीच तहसीलों में रजिस्ट्रियां कराने को करीब 1020 लोगों ने अप्वाइंटमेंट अप्वाइंटमेंट लिया था।

रि-शिड्यूलिंग की व्यवस्था शुरु होने से करीब 700 लोगों को दोबारा अप्वाइंटमेंट नहीं लेना पड़ा और 3 लाख 50 हजार रुपए बच गए अन्यथा दोबारा इतने ही रुपए खर्चने होते। जबकि तकनीकी खामियों को कारण तीन दिनों तक रि-शिड्यूलिंग सिस्टम काम नहीं करने से करीब 300 लोगों ने दोबारा अप्वाइंटमें ले लिया था। फिलहाल इस सुविधा का लाभ लोग तभी उठा सकेंगे जब हड़ताल या किसी अन्य समस्याओं के कारण जिनमें रजिस्ट्री अप्वाइंटमेंट लेने वाले की खुद कोई गलती नहीं हो।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- मेष राशि वालों से अनुरोध है कि आज बाहरी गतिविधियों को स्थगित करके घर पर ही अपनी वित्तीय योजनाओं संबंधी कार्यों पर ध्यान केंद्रित रखें। आपके कार्य संपन्न होंगे। घर में भी एक खुशनुमा माहौल बना ...

और पढ़ें