• Hindi News
  • Local
  • Punjab
  • Amritsar
  • Case Registered Against Inspector Of Food Supply Department And His Servants, Inspector Jasdev Singh Took Keys, Records And Other Documents Of Government Godowns

20 कराेड़ का गेहूं घोटाला:फूड सप्लाई विभाग के इंस्पेक्टर और उसके कारिंदों पर केस दर्ज, इंस्पेक्टर जसदेव सिंह सरकारी गोदामों की चाबियां, रिकॉर्ड और अन्य दस्तावेज ले गया

अमृतसर3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • 145787 बैग, 50-50 किलो गेहूं के गायब
  • 47556 बैग, 30-30 किलो गेहूं के नहीं मिले

डीएफएसओ राज रिषी मेहरा ने शनिवार को जंडियाला गुरु के पनग्रेन गाेदामाें से 20 कराेड़ रुपए का गेहूं कम मिलने पर विभाग के इंस्पेक्टर जसदेव सिंह और उसके कारिदों पर जंडियाला थाने में एफआईआर दर्ज करवा दी। डीएफएसओ के अनुसार पनग्रेन के 4 गोदामों के रिकॉर्ड में 87160.30 क्विंटल गेहूं कम मिला है। दूसरी ओर आरोपी इंस्पेक्टर ने उच्चाधिकारियों को ईमेल कर खुद के दुबई में होने की सूचना दी है।

मामले में अब राजनीति शुरू हो गई है। शिरोमणि अकाली दल के प्रवक्ता विरसा सिंह वल्टाेहा ने आरोपी इंस्पेक्टर जसदेव सिंह को पटियाला के घनौर विधायक मदनलाल जलालपुर का रिश्तेदार बताया है जबकि एमएलए मदनलाल ने वल्टोहा के आरोपों को खारिज कर आरोपी पर कार्रवाई करने को कहा।

पुलिस को डीएफएसओ ने बताया कि इंस्पेक्टर जसदेव सिंह 31 जुलाई से विभाग के संपर्क में नहीं है। उधर एएफएसओ अर्शदीप सिह ने कहा कि इंस्पेक्टर सरकारी दस्तावेज और चािबयां अपने साथ ले गया है। 5 अगस्त को एफसीआई से गहरी मंडी रेलवे स्टेशन पर गेहूं लोड किया जाना था। लोड के समय गोदाम में जसदेव सिंह गैर हाजिर था। इसके बाद उसकी कस्टडी वाले गोदामों की जांच 7 टीमों सवे कराई गई। जिसमें 87 हजार क्विंटल गेहूं गायब पाया गया।

इंस्पेक्टर जसदेव सिंह पर ही थी अनाज खरीदने की जिम्मेदारी
एफआईआर में बताया गया कस्टोडियन इंस्पेक्टर जसदेव सिंह मुख्य आरोपी है। यह इंस्पेक्टर जंडियाला गुरु मंडी में पनग्रेन की ओर से अनाज खरीदता था। 2021 -22 के दौरान मंडी जंडियाला गुरु में गेहूं की खरीद, उसकी लोडिंग, ट्रांसपोटेशन, स्टोरेज और पेमेंट की जिम्मेदारी भी इंस्पेक्टर पर थी। इसके अलावा निरीक्षक एफसीआई से प्राप्त होने वाले आरओ के तहत प्राइवेट पार्टियों से भी गेहूं उठवाता था।

इंस्पेक्टर ने रखे हुए थे कारिंदे... विभाग को पता चला है कि इस काम के लिए निजी तौर पर चन, चन्द्र, मंगा, बोबी और विक्की नामक कारिंदे रखे थे। जसदेव ने सरकार को 20 करोड़ रुपए का आर्थिक नुकसान पहुंचाया है। जंडियाला पुलिस ने उसके खिलाफ धारा 409 ,420 और 120बी के तहत केस दर्ज कर लिया है।

तीन गोदामों के ताले तोड़े कर कराई वीडियोग्राफी
5 अगस्त को शाम 3.30 बजे हृदयपल सिंह नायब तहसीलदार जंडियाला गुरु की हाजिरी में वीडियोग्राफी कराकर ताला बंद राजपाल गोदाम, संजय गोदाम और कृष्णा गोदाम, जंडियाला के ताले तुड़वाकर गोदाम खुलवाए गए। 5 और 6 अगस्त को सेंटर विजिलेंस चंडीगढ़ और सर्किल ऑफिस अमृतसर ने सभी गोदामों की पीवी कराई। जिसमें घपलेबाजी सामने आई।

पहले भी इंस्पेक्टर की कंप्लेंट की थी: लखबीर
मामले में काॅमरेड लखबीर सिंह निजामपुरा ने कहा कि इसी इंस्पेक्टर के खिलाफ गरीबों को बांटे जाने वाले अनाज में गांव छापाराम सिंह के बारे में जिला शिकायत निवारण कमेटी ने डेढ़ वर्ष पहले अमृतसर डिप्टी कमिश्नर, जिला फूड सप्लाई विभाग अमृतसर और एसडीएम-1 अमृतसर को व्हाट्सएप से शिकायत की थी, लेकिन इसके खिलाफ कार्रवाई नहीं की।

कहां गेहूं की कितनी बोरियां कम मिली

  • संजय गोदाम में 50 किलो के 1896 बैग कम
  • राजपाल गोदाम धीरेकोट रोड में 50 किलो के 77157 कम
  • कोछड़ गोदाम में 13214 50 किलो वाले बैग कम
  • अजयपाल गोदाम में 50 किलो वाले 2712 बैग कम
  • कृष्णा गोदाम में 50 किलो के 27928 बैग कम और 30 किलो के 8946 बैग कम
  • इंडो जर्मन गोदाम में 50 किलो के 10009 बैग कम
  • धानी गोदाम में 50 किलो के 12871 बैग कम
  • पेपर मिल गोदाम में 30 किलो के 38610 बैक कम मिले।

घपले में और भी कई अफसर शामिल: भीरी
इस घपलेबाजी में केवल जसदेव ही नहीं और अधिकारी भी शामिल हैं। अगर विभाग ने उनके खिलाफ कार्रवाई नहीं की तो वह जल्द ही इसके खिलाफ संघर्ष का बिगुल बजा देंगे।
- मनजिंदर सिंह भीरी, अकाली नेता

इंस्पेक्टर विधायक का रिश्तेदार : वल्टाेहा
फूड सप्लाई विभाग का जिम्मा अनाज की देखरेख और लोगों को सप्लाई करना है। गेहूं कम हाेने के मामले की जांच सीबीआई से करवाई जानी चाहिए। घाेटाले में शामिल मुख्य इंस्पेक्टर जसदेव सिंह विधायक मदन लाल जलालपुर का रिश्तेदार है।
- विरसा सिंह वल्टाेहा, प्रवक्ता, शिराेमणि अकाली

मेरा इंस्पेक्टर से काेई रिश्ता नहीं : विधायक
जंडियाला गुरु के गाेदामाें में गेहूं कम पाए जाने के मामले में मुख्य ताैर पर जिम्मेदार इंस्पेक्टर जसदेव सिंह उनका रिश्तेदार नहीं है। सरकारी अनाज का घपला करने वालाें के खिलाफ सख्त कार्रवाई हाेनी चाहिए।
-मदन लाल जलालपुर, विधायक

खबरें और भी हैं...