शहीद मनदीप की अंतिम अरदास में पहुंचे CM:बेटे को लगाया गले और परिवार को सौंपा 50 लाख का चेक, सरकारी नौकरी का किया वादा

अमृतसर7 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
शहीद मनदीप सिंह के बेटे को गले लगाते हुए सीएम चरणजीत सिंह चन्नी। - Dainik Bhaskar
शहीद मनदीप सिंह के बेटे को गले लगाते हुए सीएम चरणजीत सिंह चन्नी।

जम्मू कश्मीर के पुंछ में आतंकियों के साथ मुठभेड़ में शहीद हुए मनदीप सिंह की अंतिम अरदास में पंजाब के मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी भी शामिल हुए। इस दौरान उन्होंने परिवार के साथ दुख साझा किया। उन्होंने शहीद मनदीप के बेटे को गले लगाते हुए परिवार को इस दुख की घड़ी में हर संभव मदद का आश्वासन भी दिया।

मुख्यमंत्री चन्नी ने शहीद मनदीप सिंह की पत्नी को 50 लाख रुपए का चेक सौंपा और परिवार के एक सदस्य को सरकारी नौकरी देने का वादा भी किया। इसके अलावा उन्होंने गांव के बाहर शहीदी गेट बनवाने के लिए भी 10 लाख रुपए जारी करने के आदेश दिए। सीएम चन्नी कहा कि मनदीप सिंह के संस्कार पर आना चाहते थे, लेकिन व्यस्त होने के चलते वह गुरदासपुर पहुंच नहीं पाए।

शहीद मनदीप सिंह की मां काे सांत्वना देते हुए सीएम चरणजीत सिंह चन्नी।
शहीद मनदीप सिंह की मां काे सांत्वना देते हुए सीएम चरणजीत सिंह चन्नी।

बता दें कि सीएम चन्नी बुधवार को अमृतसर श्री रामतीर्थ में नतमस्तक होने के लिए आ रहे हैं। लेकिन इससे पहले उन्होंने गुरदासपुर जाने का कार्यक्रम बना लिया। वह सीधा ही गुरदासुपर के गांव चट्‌ठा पहुंचे। उनके साथ कैबिनेट मंत्री तृप्त रजिंदर बाजवा भी साथ थे।

परिवार के सदस्य को मिलेगी सरकारी नौकरी
सीएम चन्नी ने आर्थिक सहायता के साथ ही परिवार के एक सदस्य को सरकारी नौकरी देने का भी वादा किया। उन्होंने कहा कि गांव में मनदीप सिंह के नाम पर फुटबाल स्टेडियम भी बनाया जाएगा। शहीद मनदीप सिंह की पत्नी मनदीप कौर ने कहा कि उन्हें अपने पति पर गर्व है कि वह अपने देश के लिए शहीद हुए हैं। वह अपने दोनों बेटों को भी फौज में भर्ती करना चाहती है।