पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

निपटारा:डीसी ने पटवारियों और एडीसी में करवाई सुलह, सवा घंटे चली टेबल टॉक

अमृतसर8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • डीसी ने एडीसी जनरल हिमांशु अग्रवाल काे दिए पटवारियों की फाइलें जल्द निपटाने के निर्देश

कानूनगो एसोसिएशन और दि रेवेन्यू पटवार यूनियन और एडीसी जनरल हिमांशु अग्रवाल के बीच मंगलवार को फाइलें अटकाने को लेकर पैदा हुए विवाद को डीसी गुरप्रीत सिंह खैहरा ने बुधवार को दोनों पक्षों में टेबल टॉक करवा कर खत्म कर दिया।

सवा घंटे तक चली बैठक में डीसी ने एडीसी को पटवारियों की फाइलें जल्द निपटाने के निर्देश दिए, वहीं पटवारियों को कोई भी हड़ताल न करने की हिदायत दी। पटवारियों और कानूनगो ने मंगलवार को एडीसी जनरल को रेडक्रॉस भवन में उनके दफ्तर में 8 घंटे तक घेरे रखा था। उन्होंने एडीसी पर उनकी फाइल अटकाने और उन्हें मिलने का समय न देने के आराेप लगाए थे।

साथ ही फाइलें न निपटाए जाने पर हड़ताल करने का ऐलान कर दिया था। करीब 8 घंटे के घेराव के बाद रात 9 बजे डीसी गुरप्रीत सिंह खैहरा ने पटवारियों काे उनकी शिकायत का निपटारा करवाने और एडीसी से टेबल टाॅक करवाने का भराेसा दिया था। इसके बाद पटवारियों ने प्रदर्शन खत्म कर दिया था।

पटवारियों-कानूनगो ने फाइलें अटकाने के आरोप लगा 8 घंटे एडीसी को घेरे रखा था

यूनियन ने बुधवार को पटवारखाना में सुबह 11 से दोपहर 12 बजे तक मीटिंग काे लेकर रणनीति बनाई। फिर एसडीएम विकास हीरा और डीआरओ मुकेश शर्मा से दोपहर 12.30 से 1.15 बजे तक बातचीत की। इसके बाद डीसी ने पटवारियों व एडीसी को दोपहर 2 बजे टेबल टॉक के लिए दफ्तर बुलाया।

एडीसी बोले- उनके पास डेढ़-दो महीने पुरानी कोई फाइल पेंडिंग नहीं

डीसी ने पहले तो मीटिंग जिला परिषद हॉल में कराने का निर्णय लेकर पटवारियों को वहां भेजा, लेकिन प्लान चेंज कर यूनियन के नेताओं और एडीसी जनरल को डीसी ने अपने ऑफिस में बुलाया। यहां दोपहर 2.15 से 3.30 बजे तक डीसी की मौजूदगी दोनों पक्षों में बैठक हुई। पटवारियों ने डीसी काे बताया कि डेढ़-दो महीने से मुलाजिमों की फाइलें पेंडिंग हैं।

कानूनगो एसोसिएशन के सूबा प्रधान निर्मलजीत सिंह बाजवा और दि पटवार यूनियन के जिला प्रधान कुलवंत सिंह डेहरीवाल ने बताया कि जो भी फाइलें रुकी हैं, उन्हें तत्काल निपटाया जाए। वहीं एडीसी जनरल ने डीसी को बताया कि इतनी पुरानी कोई भी फाइल उनके पास नहीं है। आरोप बेबुनियाद हैं। दोनों ही पक्षों की बातें सुनने के बाद डीसी ने निर्देश दिया कि जो भी फाइलें रुकी हैं, उन्हें जल्द रिलीज किया जाए। वहीं पटवारियों को कहा कि अब कोई भी हड़ताल या धरना नहीं होना चाहिए।

खबरें और भी हैं...