• Hindi News
  • Local
  • Punjab
  • Amritsar
  • Delegation With Bibi Jagir Kaur, Chandumajra And Bikram Majithia Leaves For Lakhimpur Khiri By Air, Will Meet The Families Of The Victims

लखीमपुर खीरी के विरोध में रण में कूदा अकाली दल:सांसद हरसिमरत कौर बादल, बीबी जगीर कौर, चंदूमाजरा व बिक्रम मजीठिया फ्लाइट से पहुंचे लखनऊ

अमृतसर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
अकाली दल का डेलिगेशन श्री गुरु रामदास जी इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर। - Dainik Bhaskar
अकाली दल का डेलिगेशन श्री गुरु रामदास जी इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर।

उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी में हुई हिंसा का जायजा लेने और पीड़ित परिवारों से मिलने के लिए शक्रवार सुबह अकाली दल का डेलिगेशन रवाना हुआ। श्री गुरु रामदास जी इंटरनेशनल एयरपोर्ट से डेलिगेशन ने फ्लाइट ली। कांग्रेस इस मुद्दे को लेकर पहले से ही सक्रिय है। अकाली दल इस मुद्दे पर मौखिक रूप से भाजपा का विरोध तो कर रहा था, लेकिन कोई गतिविधि देखने को नहीं मिल रही थी। वहीं दो दिन पहले अकाल तख्त के जत्थेदार ज्ञानी हरप्रीत सिंह ने भी एक जत्था यूपी के लिए रवाना करने की बात कही थी।

शुक्रवार सुबह श्री गुरु रामदास जी इंटरनेशनल एयरपोर्ट से 7 लोगों का जत्था यूपी के लखीमपुर लेने के लिए रवाना हो गया। अकाली दल की तरफ से भेजे गए इस डेलिगेशन में सांसद हरसिमरत कौर बादल भी हैं। उनके साथ सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी की प्रधान बीबी जगीर कौर, पूर्व मंत्री बिक्रम सिंह मजीठिया और प्रेम सिंह चंदूमाजरा हैं। मिली जानकारी के अनुसार, यह डेलिगेशन दिल्ली से यूपी बार्डर की तरफ रवाना होगा। एक तरह यह घटना और उस पर हो रही कार्रवाई का जायजा लेंगे। वहीं दूसरी तरफ पीड़ित परिवारों से भी मिलेंगे। अकाली दल का अगला एक्शन प्लान क्या रहेगा, इसके बारे में अभी तक पार्टी ने कोई फैसला नहीं किया है।

श्री अकाल तख्त साहिब के जत्थेदार ज्ञानी हरप्रीत सिंह।
श्री अकाल तख्त साहिब के जत्थेदार ज्ञानी हरप्रीत सिंह।

घटना पर सियासत न करने की अपील- ज्ञानी हरप्रीत सिंह

वहीं दूसरी तरफ श्री अकाल तख्त साहिब के जत्थेदार ज्ञानी हरप्रीत सिंह ने राजनीतिक पार्टियों को लखीमपुर घटना पर सियासत न करने की अपील की है। उनका कहना है कि यह घटना दुखद है। लेकिन यूपी सरकार की तरफ से आरोपियों पर कार्रवाई न करना और भी अधिक गलत बात है। ऐसे में पार्टियों को अलग-थलग न चलते हुए एक साथ चलना चाहिए। इसके अलावा उन्होंने दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी और पटना साहिब प्रबंधन में भी दखल न देने की अपील की है। उन्होंने सिख संगठनों को एक जुट होकर राजनीति का धर्म में हस्ताक्षेप रोकने के लिए विरोध करने को कहा है।

खबरें और भी हैं...