पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Punjab
  • Amritsar
  • Family And Members Of Desh Bhagat Memorial Organization Protest Against Tampering With Heritage, Police Stopped Near The Main Gate

जलियांवाला बाग के नवीनीकरण का विरोध जारी:फ्रीडम फाइटर्स, देश भगत यादगार संस्था और किसान साझा मोर्चा ने अमृतसर में निकाला मार्च, पुलिस ने मुख्य द्वार के पास रोका

अमृतसर10 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

जलियांवाला बाग नवीनीकरण का विरोध बढ़ता ही जा रहा है। सोमवार जहां पूर्व मंत्री लक्ष्मीकांता चावला ने नवीनीकरण का विरोध किया। वहीं मंगलवार को जलियांवाला बाग फ्रीडम फाइटर्स, जालंधर से देश भक्त यादगार संस्था और किसान साझा मोर्चा के सदस्यों ने नवीनीकरण के खिलाफ 'भरावां दा ढाबा' से जलियांवाला बाग तक मार्च निकाला। पुलिस ने भीड़ को रोकने के लिए जलियांवाला बाग के बाहर ही बैरिकेड लगा दिए।

जलियांवाला बाग की तरफ मार्च निकालते हुए विभिन्न संस्थाओं के सदस्य।
जलियांवाला बाग की तरफ मार्च निकालते हुए विभिन्न संस्थाओं के सदस्य।

संस्था के सदस्य करणजीत सिंह, राजेश कपूर, कमल पोदार, सुनील कपूर, इंद्रजीत सिंह और बलजीत सिंह ने कहा कि नवीनीकरण के नाम पर सरकार ने देश के शहीदों की निशानियों से छेड़छाड़ की है। जलियांवाला बाग जिसे देख लोगों के दिल पसीज जाते थे, आज एक पिक्निक स्पॉट लगता है। जलियांवाला बाग फ्रीडम फाइटर्स एसोसिएशन ने 11 मांगों को सरकार के समक्ष रखा है, लेकिन इन पर विचार नहीं किया गया। प्रदर्शन कर रही संस्थाओं ने जलियांवाला बाग को पुराना रूप देने की मांग उठाई है। उन्होंने कहा कि मांगे पूरी नहीं होने तक प्रदर्शन जारी रहेंगे।

जलियांवाला बाग के अंदर शहीद परिवरों के सदस्य मांगों को लेकर शांतिपूर्वक प्रदर्शन करते हुए।
जलियांवाला बाग के अंदर शहीद परिवरों के सदस्य मांगों को लेकर शांतिपूर्वक प्रदर्शन करते हुए।

11 मांगें, जिन्हें सरकार के समक्ष रखा गया है

  1. गली, जिससे जरनल डायर दाखिल हुआ, वहां से पुतले हटाए जाएं।
  2. शहीदी कुआं को पुराना रूप दोबारा से दिया जाए।
  3. अमर ज्योति को सही और पुरानी जगह दोबारा लगाया जाए।
  4. यहां मारे गए लोगों को शहीदों का दर्जा दिया जाए।
  5. प्वॉइंट जहां से डायर ने गोलियां चलाने का आदेश दिया था, वहां दोबारा छोटी बुर्जी बनाई जाए, ताकि इस स्थान को बिना देखे आगे ना बढ़ सके।
  6. एक आर्काइव वॉल तैयार की जाए ओर शहीदों की तस्वीरों व नाम लगाए जाएं।
  7. परिवरों को ताम्रपत्र दिए जाएं।
  8. लाइट एंड साउंड शो बंद किए जाए।
  9. देखरेख के लिए बनाई गई कमेटी में शहीदों के परिवारों के सदस्यों को भी लिया जाए।
  10. जलियांवाला बाग में सर्व धर्म पूजा स्थल का निर्माण किया जाए।
  11. जलियांवाला बाग में खान-पान की चीजें ले जाने पर मनाही हो।
खबरें और भी हैं...