पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

सैलानियों को भी अंदर जाने से रोके रखा:जलियांवाला बाग नवीनीकरण के खिलाफ फ्रीडम फाइटर्स और वामपंथियों ने ढाई घंटे धरना दिया

अमृतसर13 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

जलियांवाला बाग के नवीनीकरण को लेकर जारी विवाद के तहत मंगलवार को किसान, कम्युनिस्ट, फ्रीडम फाइटर्स परिवार समेत अन्य जत्थेबंदियों ने बाग के बाहर धरना प्रदर्शन किया। इस दौरान उनको बाग में न जाने के लिए पुलिस ने बैरीकेड लगा दिया तो यह लोग वहीं बैठ गए। वहीं दूसरी तरफ पुलिस ने बाग का गेट भी बंद कर दिया और टूरिस्टों के प्रवेश पर भी रोक लगा दी। बाग में हुए काम को लेकर असंतोष जताते हुए सीपीआई, सीपीआई(एम), भारतीय किसान यूनियन एकता (उगराहां), आजाद किसान संघर्ष कमेटी, फोकलोर रिसर्च अकादमी, देश भक्त यादगार संस्था, आलमी विरासत फाउंडेशन, फ्रीडम फाइटर्स फाउंडेशन और अन्य किसान तथा मजदूर जत्थेबंदियों के लोग भरावां का ढाबा के बाहर जमा हुए। यहां से यह लोग रोष मार्च करते हुए बाग के बाहर तक पहुंचे। पुलिस ने वहां पर बैरीकेड लगा कर रोका तो यह लोग वहीं बैठ गए और सुबह 11.30 से बाद दोपहर 2.0 बजे तक प्रदर्शन करते रहे।

मूल रूप से छेड़छाड़ बर्दाश्त नहीं : रमेश यादव

धरने में शामिल रमेश यादव, अमरजीत सिंह आसल, रतन सिंह रंधावा, सुनील कपूर, विजय शर्मा, अमरजीत सिंह बाई, भुपिंदर सिंह संधू, धनवंत सिंह खतराए कलां, जतिंदर सिंह छीना, हरजीत सिंह झीते, करणजीत सिंह, राजेश कपूर, कमल पोदार, कुलदीप सिंह धालीवाल, बलविंदर सिंह दुधाला, अश्विनी कुमार, जगतार सिंह कर्मपुरा आदि ने कहा कि सरकार ने नवीनीकरण और संरक्षण के नाम पर बाग का वास्तविक स्वरूप बिगाड़ जहां शहीदों का अपमान किया है वहीं लोगों की भावनाओं को भी ठेस पहुंचाई है। इसे सहन नहीं किया जाएगा। प्रदर्शनकारियों ने कहा कि इस मुहिम को आगे चलाने के लिए जल्द ही समाज के हरेक वर्ग को लेकर संघर्ष कमेटी का गठन होगा।

आला अफसरों का ही फरमान भूली पुलिस
प्रदर्शनकारियों को बाग में जाने से रोकने के लिए पुलिस ने गेट से कुछ दूरी पर बैरिकेड्स लगा दिया। इसके चलते टूरिस्टों की आवाजाही रुक गई। इससे भी अहम यह रहा कि बाग का गेट भी बंद कर दिया गया और टूरिस्टों को भीतर जाने से रोक दिया गया। बाग में कोई शरारत न हो इसके लिए डीसीपी परमिंदर सिंह भंडाल ने धारा 144 का एेलान करते हुए बाग के भीतर तथा बाहर धरने-प्रदर्शन पर रोक लगा दी थी। लेकिन इस दौरान यह भी कहा था कि टूरिस्टों को नहीं रोका जाएगा, लेकिन आज के इस प्रदर्शन के दौरान पुलिस उसे भूल गई। हालांकि इस बारे बताने के बाग गेट खोल दिया गया।

खबरें और भी हैं...