पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

मेडिकल कॉलेज की लैब से रिपोर्ट तलब:आईडीएसपी लैब के 5 कर्मियों की काेराेना रिपोर्ट पहले पाॅजीटिव तो बाद में निगेटिव आने में जांच शुरू

अमृतसरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

मेडिकल काॅलेज स्थित आईडीएसपी लैब में तैनात 5 कर्मचारियों की कोरोना रिपोर्ट एक ही दिन में पाॅजीटिव से नेगेटिव आने के मामले में विभाग ने कड़ा संज्ञान लिया है। इस मामले में सिविल सर्जन के आदेशों पर जवाबतलबी कर मामले की रिपोर्ट मांगी गई है। इस बारे में अमृतसर के सरकारी मेडिकल काॅलेज की आईडीएसपी लैब की इंचार्ज डॉ. बेबिका महेंद्रू ने बताया कि वह खुद हैरान हैं कि कोरोना टेस्ट की जांच में इस तरह की लापरवाही बरती गई है।

उल्लेखनीय है कि 4 मई को इस लैब में तैनात 5 कर्मचारियों की कोरोना जांच के लिए सैंपल लिए गए थे। जांच के बाद जब रिपोर्ट आई तो पांचों कर्मचारी कोरोना पाॅजीटिव पाए गए थे, जिसके बाद लैब को बंद कर दिया गया था। डाॅ. बेबिका महेंद्रू का कहना है कि वह खुद हैरान है कि सभी कर्मचारी पूरी तरह से फिट थे व उनमें कोरोना के लक्षण भी नहीं थे। कर्मचारियों की रिपोर्ट पाॅजीटिव आने के बाद उन्होंने दोबारा कर्मचारियों के कोरोना टेस्ट करवाए और दूसरी बार सभी कर्मचारियों की कोरोना रिपोर्ट नेगेटिव आई।

डाॅ. बेबिका महेंद्रू ने खुद अपने ही विभाग की कार्यप्रणाली पर सवालिया चिह्न लगा दिए हैं। दूसरी ओर इस मामले में जवाबतलबी करने के लिए सिविल सर्जन की और से जांच की शुरुआत की गई है। इस बारे में जानकारी देते हुए सहायक सिविल सर्जन डाॅ. अमरजीत सिंह ने बताया कि सरकारी मेडिकल काॅलेज को इस बारे में पत्र जारी किया गया है, मामले में जवाब मांगा गया है कि एक ही दिन में कोरोना पाॅजीटिव रिपोर्ट नेगेटिव कैसे हो गई? उन्होंने कहा कि इस पत्र का जवाब आने के बाद ही यह जिम्मेदारी तय की जाएगी कि मामले में काैन से अधिकारी और कर्मचारी की गलती है।

खबरें और भी हैं...