जलियांवाला बाग में मॉक ड्रिल:प्राकृतिक आपदा से निटपने के लिए NDRF करेगा प्रैक्टिस, SDM की अपील- माहौल देख घबराएं नहीं

अमृतसरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
NDRF डिप्टी कमांडेंट ने सभी विभागों को बताई उनकी जिम्मेदारी। - Dainik Bhaskar
NDRF डिप्टी कमांडेंट ने सभी विभागों को बताई उनकी जिम्मेदारी।

आजादी के अमृत महोत्सव के संबंध में नेशनल डिजास्टर रेस्पॉन्स टीम (NDRF) बुधवार को जलियांवाला बाग में मॉक ड्रिल करेगी। इसमें NDRF टीम के साथ सभी विभागों की टीमें सहयोग करेंगी। मॉक ड्रिल से पहले एसडीएम-1 टी. बैनिथ ने शहरवासियों को माहौल से न घबराने की अपील की है। उन्होंने बताया कि यह एक्सरसाइज लोगों को प्राकृतिक आपदा से बचाने की दिशा में एक बड़ा अभ्यास है।

एसडीएम ने बताया कि यह मॉक ड्रिल जलियांवाला बाग में बुधवार दोपहर 12 बजे से शुरू होगी। हैरिटेज स्ट्रीट में बड़ी संख्या में श्रद्धालुओं की आमद होती है और इस एक्सरसाइज का उद्देश्य प्राकृतिक आपदा में लोगों के बचाव पर आधारित है। इसमें विभिन्न विभाग भाग लेंगे और उन्हें भी समझाया जाएगा कि प्राकृतिक आपदा के समय किस विभाग को किस समय और कैसे रेस्पॉन्स करना है। इस मॉक ड्रिल से पहले जलियांवाला बाग में मंगलवार बैठक का आयोजन किया गया। इसमें सभी विभागों के अधिकारी भाग लेने पहुंचे। सभी विभागों को आदेश दिए गए हैं कि 15 दिसंबर को 12 बजे जलियांवाला बाग पहुंच जाएं, ताकि इस एक्सरसाइज को अच्छे तरीके से पूरा किया जा सके। NDRF डिप्टी कमांडेंट ऋषि महाजन ने सभी विभागों को उनकी जिम्मेदारियों के बारे में भी बताया।

माहौल देख घबराएं नहीं

एसडीएम टी बैनिथ ने लोगों से माहौल को देखकर न घबराने की अपील की है। उनका कहना है कि मॉक ड्रिल के समय स्थिति अचानक बदल जाती है और लोग अनजान होने के कारण घबरा जाते हैं। ऐसे में संयम बनाए रखें और अभ्यास में सहयोग दें।

खबरें और भी हैं...