पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Punjab
  • Amritsar
  • Joginder Bhoa Belle Sidhu, Who Wrote The Letter In Favor Of CM 4 Days Ago, Did Not Commit Any Crime, Apologize To The Captain

सिद्धू की कोठी में पंजाब कांग्रेस:4 दिन पहले सीएम के हक में लैटर लिखने वाले जोगिंदर भोआ बाेले-सिद्धू ने कोई गुनाह नहीं किया जो कैप्टन से माफी मांगें

अमृतसर15 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • शुक्राने में पहुंचे नेताओं में से 16 ने रखी अपनी बात, कहा-कैप्टन और सिद्धू का मनमुटाव हाईकमान दूर कर लेगा

बुधवार को कांग्रेस के नवनियुक्त पंजाब प्रदेश नवजोत सिंह सिद्धू की कोठी में पहुंचे नेताओं ने कैप्टन-सिद्धू विवाद में सिद्धू का पक्ष लेते हुए कहा कि उन्हें कैप्टन से माफी मांगने की जरूरत नहीं। कैबिनेट मिनिस्टर सुखजिंदर सिंह रंधावा ने तो यहां तक कर दिया कि कैप्टन अपनी सरकार चलाएं, सिद्धू पार्टी संभाल लेंगे। परगट सिंह ने कहा सिद्धू को माफी मांगने की जरूरत नहीं। यह सिद्धू नहीं, पंजाब के इश्यू की लड़ाई है। वहीं 18 जुलाई को कैप्टन के हक में लैटर लिखने वाले हरमिंदर सिंह गिल ने कहा कि पार्टी हाईकमान दोनों नेताओं के मनमुटाव दूर कर लेगा, जबकि जोगिंदर पाल भोआ ने कहा कि सिद्धू को माफी मांगने की जरूरत नहीं।

भोआ से विधायक जोगिंदर पाल भोआ ने कहा पंजाब की कमान नौजवान के हाथों में सौंपना केंद्रीय नेतृत्व का सराहनीय फैसला है। सभी कार्यकर्ता एकजुट होकर 2022 का विधानसभा चुनाव लड़ेंगे। माझे के बीच कैरों के बाद यदि कोई सीएम बनेगा तो वह नवजोत सिंह सिद्धू होंगे। सिद्धू ने कोई गुनाह नहीं किया जो कैप्टन से माफी मांगें।

उधर, पट्‌टी से कांग्रेसी विधाय हरमिंदर सिंह गिल ने कहा कि नवजोत सिंह सिद्धू पंजाब कांग्रेस के प्रधान हैं। नवनिर्वाचित प्रधान का स्वागत करना सभी का फर्ज है। जो भी मसला है, वह पार्टी नेतृत्व खुद सुलझाएगा। 2022 में होने वाले विधानसभा चुनावों में कांग्रेस फिर से जीत का परचम लहराएगी।

रामतीर्थ में नवनियुक्त कांग्रेस प्रधान ने उतारी आरती
पंजाब कांग्रेस के नए बने प्रधान नवजोत सिंह सिद्धू ने बाद दोपहर 4:30 बजे रामतीर्थ स्थित भगवान वाल्मीकि मंदिर में पहुंचकर माथा टीका। इसी दौरान उन्होंने दीपक जलाकर भगवान की आरती करके उन पर पुष्प वर्षा की। आखिर 15 मिनट के बाद ही वह तीर्थ से वापस चले गए।

सिद्धू की एक झलक पाने के लिए कैबिनेट मंत्री सुखविंदर सिंह सरकारिया के हलका अजनाला, विधायक तरसेम सिंह डीसी के हल्का अटारी और राजासांसी के अनेक गांवों से हजारों की संख्या में लोग सुबह से ही रामतीर्थ रोड पर जमा होने शुरू हो गए थे। सिद्धू द्वारा तीरथ में 12 बजे आने के अनुमान के चलते कई लोग तो थक हार कर बैठ गए। शाम करीब 4:30 बजे जैसे ही मंत्रियों के साथ सिद्धू का काफिला तीर्थ में पहुंचा तो लोगों ने भगवान वाल्मीकि जी के जयकारे लगाने शुरू कर दिए।

दुर्ग्याणा तीर्थ में गर्मजोशी से स्वागत
दुर्ग्याणा तीर्थ में सिद्धू का गर्मजोशी से स्वागत किया गया। उनके आगमन से पहले ही प्रधान एडवोकेट रमेश शर्मा, महामंत्री अरुण खन्ना, हर्ष खन्ना, राज कुमार शर्मा आदि ही पहुंच गए थे। पहले उनको श्री लक्ष्मीनारायण मंदिर में माथा टिकवाया गया और प्रसाद, सिरोपा भेंट करने के बाद कमेटी ऑफिस में दुशाला और मंदिर की तस्वीर से सम्मानित किया गया।

प्रधान और महामंत्री का कहना है कि सिद्धू ने इस तीर्थ के लिए बहुत कुछ किया है। उनके द्वारा मंदिर के लिए किए गए कामों के प्रति कमेटी ने कृतज्ञता भी जताई। इसके बाद जब वह श्री रामतीर्थ में दर्शन-दीदार को पहुंचे तो वहां पर भगवान वाल्मीकि की प्रतिमा के समक्ष आरती की और नतमस्तक हुए।

सिद्धू को माफी मांगने की जरूरत नहीं, लड़ाई पंजाब के मुद्दों की: परगट सिंह
पर्सनैलिटी पर लड़ाई नहीं हो सकती। यह नवजोत सिद्धू की नहीं बल्कि पंजाब के इश्यू की लड़ाई है। इश्यू रिजाॅल्व करने और पंजाब को डायरेक्टर देने दी जरूरत है। पार्टी ने कैप्टन अमरिंदर सिंह और नवजोत सिद्धू को साथ लेकर आगे चलना है। सिद्धू को कैप्टन से माफी मांगने की जरूरत नहीं है। - परगट सिंह, विधायक, जालंधर कैंट।

सिद्धू को प्रधानगी देना पार्टी का फैसला: गिलजियां
सभी विधायक और पार्टी कार्यकर्ता नवनिर्वाचित पंजाब कांग्रेस अध्यक्ष के साथ दरबार साहिब, दुर्ग्याणा मंदिर में माथा टेकने जा रहे हैं। सिद्धू को प्रधान बनाने का फैसला हाईकमान का है। इसमें कैप्टन से माफी मांगने का सवाल बेबुनियाद है। -संगतसिंह गिलजियां, विधायक और और वर्किंग प्रेजीडेंट

कैप्टन का बड़ा दिल, जल्द सुलझेगा मुद्दा: राजा वड़िंग
मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह और पंजाब प्रदेश कांग्रेस कमेटी के प्रधान नवजोत सिद्धू के बीच थोड़ी सी नाराजगी है। मगर मुख्यमंत्री का दिल बहुत बड़ा है। दोनों नेता खुद ही समस्या का हल निकालेंगे। कांग्रेस हाईकमान के ऑर्डर का स्वागत करेंगे।
- राजा वड़िंग, विधायक गिद्दड़वाहा
गुरुघर में राजनीतिक की बात नहीं : चरनजीत सिंह चन्नी
नवनिर्वाचित पंजाब कांग्रेस प्रधान और सभी विधायक और पार्टी कार्यकर्ता गुरुघर में माथा टेकने के लिए जा रहे हैं। कैप्टन और सिद्धू के बीच क्या चल रहा है। ये राजनीतिक बातें हैं। गुरुघर में अरदास की जाती है, यह राजनीतिक का वक्‍त नहीं।
- चरणजीत सिंह चन्नी, विधायक, चमकौर साहिब
गुरुघर में अरदास, अच्छी शुरुआत: हरजोत कमल सिंह
गुरु के दरबार में माथा टेकने के लिए सभी पार्टी कार्यकर्ता और विधायक अमृतसर आए हैं। ये कांग्रेस पार्टी के लिए अच्छी शुरुआत है। कैप्टन अमरिंदर और नवजोत सिद्धू के बीच का उनका आपसी मसला है। इसमें मैं कुछ नहीं कह सकता है।
-हरजोत कमल सिंह, विधायक

दोनों हमारे नेता, हाईकमान का फैसला सभी स्वीकार करें : बरिंदर सिंह ढिल्लों
कैप्टन मुख्यमंत्री हैं और नवजोत सिंह सिद्धू पंजाब कांग्रेस के प्रधान ऐसे में जो भी फैसला पार्टी हाईकमान का है। उसे सभी को स्वीकार करना चाहिए। -बरिंदर सिंह ढिल्लों, यूथ कांग्रेस प्रधान

खबरें और भी हैं...