किसानों का फतेह मार्च पहुंचा गोल्डन टैंपल:कारों व ट्रॉलियों पर लोगों ने बरसाए फूल, अरदास के बाद SGPC ने 30 से अधिक नेताओं को किया सम्मानित

अमृतसर5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
श्री अकाल तख्त साहिब में अरदास करते हुए किसान। - Dainik Bhaskar
श्री अकाल तख्त साहिब में अरदास करते हुए किसान।

केंद्र सरकार के साथ कृषि कानूनों की जंग जीतने के बाद सिंघु बॉर्डर से रवाना हुआ किसानों का फतेह मार्च सोमवार को अमृतसर पहुंच गया। विभिन्न जत्थेबंदियों के नेताओं का अमृतसर के प्रवेश द्वार गोल्डन गेट पर फूलों के साथ स्वागत किया गया। 11 बजे के बाद गोल्डन गेट पर नेताओं का पहुंचना शुरु हो गया। सबसे पहले किसान नेता बलबीर सिंह राजेवाल गोल्डन गेट अपने काफिले के साथ पहुंचे। उनके बाद विभिन्न जत्थेबंदियों के नेता अपने-अपने काफिले के साथ गोल्डन गेट पहुंचे और दरबार साहिब के लिए रवाना हो गए।

मंजी साहिब हाल में SGPC की तरफ से आयोजित कार्यक्रम के दौरान किसानों को सम्मानित किया गया।
मंजी साहिब हाल में SGPC की तरफ से आयोजित कार्यक्रम के दौरान किसानों को सम्मानित किया गया।

गोल्डन गेट से पहले मानावाला टोल प्लाजा पर भी किसानों का स्वागत किया गया। 30 से अधिक किसान जत्थेबंदियों के नेता विभिन्न गाड़ियों, ट्रालियां और ट्रेक्टरों में अमृतसर पहुंचे। मानावाला टोल प्लाजा के बाद तरनतारन बाईपास पर फूल फैंक किसान जत्थेबंदियों का स्वागत किया गया। सड़कों पर डीजे लगाए गए थे और मिठाइयां बांटी जा रही थी। जैसे-जैसे किसान जत्थेबंदियां यहां पहुंच रही थी, उनका सम्मान किया जा रहा था। गोल्डन गेट पर भी डीजे लगाए गए थे। गाड़ी में बैठे-बैठे ही किसान नेताओं के गले में सरोपे डाल कर सम्मानित किया गया। 11 बजे के बाद गोल्डन गेट पर बड़ा जाम भी लग गया। जिसके चलते किसानों के काफिलों को उसी समय आगे गोल्डन टैंपल के लिए रवाना कर दिया गया।

पिंगलवाड़ा मानावाला के बाहर डॉ. इंद्रजीत कौर किसानों को सम्मानित करते हुए।
पिंगलवाड़ा मानावाला के बाहर डॉ. इंद्रजीत कौर किसानों को सम्मानित करते हुए।

पिंगलवाड़ा स्कूल के बच्चों ने किया स्वागत

नई दिल्ली-अमृतसर नेशनल हाईवे पर जब किसानों का फतेह मार्च निज्जरपुरा और ढिलवां टोल प्लाजा पर पहुंचा तो वहां फूल बरसाकर उनका स्वागत किया गया। मानांवाला में भी दो जगह किसानों के काफिले का स्वागत किया गया। मानांवाला स्थित पिंगलवाड़ा स्कूल के दिव्यांग बच्चों ने किसानों पर फूल बरसाए। बैंड के साथ किसानों ने स्कूल के आसपास मार्च भी निकाला। पिंगलवाड़ा की प्रमुख डॉ. इंद्रजीत कौर खुद किसानों के पास पहुंची और मालाएं डालकर उन्हें मिठाई खिलाई। किसान भी डॉ. इंद्रजीत कौर को देखकर खुद ही ट्रकों व ट्रॉलियों से उतर आए।

मानावाला में महिला किसान भांगड़ा डालते हुए।
मानावाला में महिला किसान भांगड़ा डालते हुए।

शहर में राम तलाई चौक पर भी सम्मान समारोह रखा गया

गोल्डन गेट से रवाना होने के बाद किसान सीधा ही दरबार साहिब के लिए बढ़ गए। राम तलाई चौक पर ट्रक यूनियन की तरफ से सम्मान समारोह आयोजित किया गया। यहां भी जैसे-जैसे किसान नेता पहुंचते गए, उनके गले में सरोपे डाल सम्मानित किया गया।

किसान नेताओं को सरोपे डाल सम्मानित किया गया।
किसान नेताओं को सरोपे डाल सम्मानित किया गया।

कई किलोमीटर लंबा लगा जाम

फतेह मार्च के ब्यास दरिया पार करने के बाद अमृतसर जिले में प्रवेश करते ही किसाना संगठनों के अलावा आम लोग भी उसके स्वागत में सड़कों पर उतर आए। रास्तेभर में कई जगह किसानों की जीत पर लड्‌डू बांटे गए। डीजे पर किसानी से जुड़े गीत बजते रहे। इसकी वजह से नई दिल्ली-अमृतसर नेशनल हाईवे पर कई किलोमीटर लंबा जाम लगा लग गया। फतेह मार्च के कारण दिक्कत का सामना न करना पड़े, इसलिए पुलिस ने आम ट्रैफिक को दूसरे रास्तों पर डाइवर्ट कर दिया। इस दौरान कई वाहन चालक अपनी गाड़ियां सड़क किनारे खड़ी करके किसानों के साथ भांगड़ा डालते नजर आए।

किसानों के काफिले पर फूल फैंक सम्मानित किया गया।
किसानों के काफिले पर फूल फैंक सम्मानित किया गया।

श्री अकाल तख्त साहिब पर हुई अरदास

दरबार साहिब में पहुंचे किसान सबसे पहले श्री अकाल तख्त साहिब पहुंचे। जहां अरदास की गई और गुरु साहिबों का आशीर्वाद प्राप्त किया गया। किसान नेताओं ने यहां से सीधा मंजी साहिब हॉल का रुख किया। जहां SGPC की तरफ से सम्मान समारोह आयोजित किया गया था।

30 से अधिक जत्थेबंदियों के नेता हुए सम्मानित

SGPC की तरफ से मंजी साहिब हाल में कविश्री गायन रखा गया था। इसी के बीच दोपहर 2 बजे के बाद किसानों का सम्मान समारोह आयोजित किया गया। SGPC प्रधान एडवोकेट एचएस धामी की तरफ से सबसे पहले बलबीर सिंह राजेवाल को सम्मानित किया गया। इसके बाद बलबीर सिंह राजेवाल के साथ खड़े होकर SGPC प्रधान ने 30 से अधिक विभिन्न जत्थेबंदियों के नेताओं को सम्मानित किया।

खबरें और भी हैं...