साढ़े 4 महीने बाद पंजाब से दिल्ली पहुंचा लॉरेंस:NIA ने बठिंडा जेल से हिरासत में लिया; 10 दिन का मिला रिमांड

अमृतसर13 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

सिद्धू मूसेवाला हत्याकांड का मुख्य आरोपी लॉरेंस साढ़े 4 महीनों के बाद पंजाब से बाहर गया है। ट्रांजिट रिमांड पर लॉरेंस को दिल्ली लेकर पहुंची राष्ट्रीय जांच एजेंसी (NIA) ने वीरवार सुबह कोर्ट में पेश किया। दिल्ली कोर्ट ने लॉरेंस को 10 दिन के लिए NIA को सौंप दिया है। NIA ने उसके खिलाफ आतंकी व गैर कानूनी गतिविधियों में शामिल होने के आरोप लगाए हैं।

मिली जानकारी के अनुसार गैंगस्टर लॉरेंस पर NIA ने आतंकी गतिविधियों में शामिल होने पर गैर कानूनी गतिविधियां की रोकथाम के लिए बना गए नियम UAPA के तहत केस दर्ज किया है। बुधवार को इसके आदेश चंडीगढ़ पहुंच गए थे। जिसके बाद NIA लॉरेंस को बठिंडा जेल से अपनी कस्टडी में लेने वाली है। NIA लॉरेंस से दिल्ली ले जाकर आतंकी कनेक्शन को लेकर पूछताछ करेगी।

पंजाबी सिंगर सिद्धू मूसेवाला का 29 मई को मानसा में मर्डर किया गया था।
पंजाबी सिंगर सिद्धू मूसेवाला का 29 मई को मानसा में मर्डर किया गया था।

गैंगस्टर्स के खिलाफ NIA ने दर्ज किए थे केस

पहली FIR में लॉरेंस गैंग के गैंगस्टर : पहली FIR में लॉरेंस गैंग के गैंगस्टर नामजद किए गए। जिनमें गैंग का मुखिया लॉरेंस, कनाडा बैठा गैंगस्टर गोल्डी बराड़, बिक्रम बराड़, काला जठेड़ी, जसदीप सिंह उर्फ जग्गू भगवानपुरिया, सचिन थापन, लॉरेंस का भाई अनमोल और लखबीर सिंह लंडा शामिल हैं। इन्हें दिल्ली पुलिस को सोर्सेज से मिले इनपुट के आधार पर नामजद किया गया है। यह गैंग जेल के अलावा कनाडा, दुबई और पाकिस्तान से ऑपरेशन चला रहे हैं।

दूसरी FIR में पटियाल, नीरज बवाना और भूप्पी राणा : दूसरी FIR बंबीहा गैंग और उसके करीबियों पर की गई। इसमें गैंगस्टर दविंदर बंबीहा की मौत के बाद अर्मीनिया बैठ गैंग चला रहे गौरव उर्फ लक्की पटियाल, अमित डागर, कौशल चौधरी, नीरज बवाना, भूप्पी राणा, सुनील उर्फ टिल्लू ताजपुरिया, बाबा ढल्ला उर्फ गुरविंदर को शामिल किया है। अमित डागर और कौशल चौधरी मोहाली में अगस्त 2021 में हुए विक्की मिड्‌डूखेड़ा कत्लकांड के साजिशकर्ता हैं।

आतंकी संगठनों के टच में गैंगस्टर, रेड भी हो चुकी
सूत्रों के मुताबिक केंद्रीय खुफिया एजेंसियों ने गृह मंत्रालय को इनपुट्स दिए हैं कि कई गैंगस्टर आतंकी संगठनों के टच में हैं। भारत सरकार ने इन संगठनों को आतंकी की लिस्ट में डाला है। इन आतंकी संगठनों के साथ मिलकर यह गैंगस्टर भारत में टारगेट किलिंग कर सकते हैं।

इसको लेकर कुछ दिन पहले NIA ने पंजाब, हरियाणा, दिल्ली और चंडीगढ़ में इन गैंगस्टर्स के घरों पर रेड भी की थी। यहां तक कि उनके केस की पैरवी करने वाले कुछ वकीलों पर भी छापेमारी हुई।

लॉरेंस से पंजाब के कई जिलों में पूछताछ हो चुकी
सिद्धू मूसेवाला हत्याकांड की हत्या के बाद जून महीने में पंजाब पुलिस लॉरेंस को पंजाब लेकर आयी थी। इसके बाद से लॉरेंस पंजाब में ही है और दर्जन से अधिक मामलों में अमृतसर, होशियारपुर, मोगा और फरीदकोट की पुलिस ने उसे लगातार रिमांड पर लेकर पूछताछ की। अब वह पुलिस कस्टडी से बाहर ज्यूडिशियल रिमांड पर बठिंडा जेल में था।

सलमान खान।
सलमान खान।

सलमान खान को मारने की दी थी धमकी

सिद्धू मूसेवाला हत्याकांड में नाम सामने आने के साथ-साथ गैंगस्टर लॉरेंस पर कई मामले देश के विभिन्न राज्यों में दर्ज हैं। जिनमें एक हिरण के शिकार मामले में सलमान खान का नाम आने के बाद लॉरेंस द्वारा दी गई धमकी भी है।

इसके अलावा, देश के विभिन्न राज्यों में हथियारों व नशे की सप्लाई चेन में लॉरेंस का नाम सामने आ चुका है। कई आतंकी गतिविधियों में भी लॉरेंस के लिंक सामने आ चुके हैं। जिनमें लॉरेंस ने या तो अपने गुर्गे उपलब्ध करवाए या हथियार मंगवाए। जिसकी जांच के लिए अब NIA ने लॉरेंस को अपनी कस्टडी में लेने का फैसला किया है।