सिंघु बॉर्डर पर एक और किसान की मौत:अमृतसर के नंगली गांव का रहने वाला था मंगल, कार्डियक अरेस्ट से गई जान

अमृतसर5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
मंगल सिंह की फाइल फोटो। - Dainik Bhaskar
मंगल सिंह की फाइल फोटो।

सिंघु बॉर्डर पर किसान आंदोलन में शामिल एक किसान की कार्डियक अरेस्ट से मौत हो गई। मृतक किसान मंगल सिंह अमृतसर के गांव नंगली का रहने वाला था और उनकी उम्र 74 साल थी। पोस्टमार्टम करवाने के बाद उसके शव को अमृतसर लाने की तैयारी की जा रही है। किसान संघर्ष कमेटी ने मृतक के परिवार को केंद्र व पंजाब सरकार से मुआवजे देने की मांग की है।

सिंघु बॉर्डर पर मंगल सिंह की मौत पर शोक व्यक्त करते हुए किसान।
सिंघु बॉर्डर पर मंगल सिंह की मौत पर शोक व्यक्त करते हुए किसान।

संघर्ष कमेटी के वक्ता स्वर्ण सिंह पंधेर ने बताया कि मंगल आंदोलन के शुरू से ही जत्थेबंदी के साथ जुड़ा हुआ था। जब भी उसकी ड्यूटी लगती, वह सिंघु बॉर्डर पर पहुंच जाता था। रविवार दोपहर को 3:15 बजे के करीब सिंघु बॉर्डर पर मंगल को कार्डियक अरेस्ट आया। जिससे उसकी मौत हो गई। उसे तुरंत पास के अस्पताल हरीष चंद्र नरेला में लग जाया गया, जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। वहीं सिंघु बॉर्डर पर शोक सभा आयोजित की गई। जहां केंद्र और राज्य सरकार से मुआवजा देने की मांग की है।

700 से अधिक किसानों की हो चुका है मौत

किसान नेता पंधेर ने बताया कि किसानों का संघर्ष 374वें दिन में दाखिल हो चुका है। लेकिन मौतों की गिनती इससे दोगुनी है। अभी तक 700 से अधिक किसान इस आंदोलन में अपनी जान गंवा चुके हैं। लेकिन किसानों ने मन बना लिया है कि जब तक केंद्र एमएसपी पर राजी नहीं होती, किसान पीछे हटने वाले नहीं हैं।