निगम XEN 1 लाख रिश्वत लेते काबू:ऑप्टिकल फाइबर केबल डालने और पोल लगाने के लिए कंस्ट्रक्शन कंपनी से मांगे थे रुपए

अमृतसरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
एक्सईएन सुनील कुमार को गिरफ्तार कर के लाते हुए विजिलेंस ब्यूरो के पुलिस अधिकारी। - Dainik Bhaskar
एक्सईएन सुनील कुमार को गिरफ्तार कर के लाते हुए विजिलेंस ब्यूरो के पुलिस अधिकारी।

विजिलेंस ब्यूरो ने नगर निगम अमृतसर के एक्सईएन को 1 लाख रुपए रिश्वत के साथ काबू किया है। एक्सईएन ने नगर निगम के लिए ऑप्टिकल फाइबर केबल डालने और पिल्लर लगाने के लिए 1.50 लाख रुपए की मांग की थी। शिकायत विजिलेंस ब्यूरो तक पहुंची तो पुलिस ने ट्रैप लगा कर एक्सईएन को 1 लाख रुपए के साथ रंगे हाथों पकड़ लिया। एक्सईएन की पहचान सुनील कुमार के रूप में हुई है और वह नोडल ऑफिसर ऑप्टिकल फाइबर केबल का भी काम संभाल रहे थे।

ए.एस. कंस्ट्रक्टर्स के मालिक बिक्रमजीत सिंह ने पुलिस को जानकारी दी कि उन्हें नगर निगम से एयरपोर्ट रोड पर 10,200 मीटर ऑप्टिकल फाइबर डालने का काम दिया गया था। इस वायर को डालते समय 310 पोल भी लगाने थे। लेकिन इसके लिए एक्सईएन सुनील कुमार ने उनसे 1 रुपए प्रति मीटर और 150 रुपए प्रति पोल के अनुसार रिश्वत की मांग कर ली। दबाव बनाने पर बिक्रमजीत रिश्वत देने को तैयार हो गए और अंत में बात 1.50 लाख रुपए पर आकर खत्म हुई। लेकिन वह एक्सईएन को यह रिश्वत नहीं देना चाहते थे, जिसके चलते उन्होंने विजिलेंस ब्यूरो अमृतसर रेंज में संपर्क किया।

किश्तों में देने थे 1.50 लाख रुपए

पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार, एक्सईएन सुनील कुमार ने 1.50 लाख रुपए देने की बात कही थी। 1 लाख रुपए उसने एक साथ और 50 हजार रुपए फाइनल अप्रूवल के बाद देने की बात कही थी। लेकिन बिक्रमजीत सिंह 1 लाख रुपए लेकर विजिलेंस ब्यूरो ऑफिस पहुंच गए, जिसके बाद प्लान बनाया गया और एक्सईएन को रंगे हाथों पकड़ा गया।

बिक्रमजीत ने जैसे ही एक्सईएन को पैसे थमाए

प्लानिंग के अनुसार, बिक्रमजीत सिंह ने 1 लाख रुपए लेकर एक्सईएन सुनील कुमार को दे दिए। जैसे ही एक्सईएन ने पैसे अपने पास रखे, डीएसपी हरप्रीत सिंह टीम के साथ मौके पर पहुंच गए। आरोपी से पैसे लेकर जब्त कर लिए गए। आरोपी के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया गया है।

खबरें और भी हैं...