• Hindi News
  • Local
  • Punjab
  • Amritsar
  • Out Of 700 Applications, 250 Were Filled By The Same Trader, Action Will Be Taken Against Selling Firecrackers Without License

पटाखा मार्केट के लिए ड्रा 25 को:700 आवेदनों में से 250 एक ही व्यापारी ने भरवाए, बिना लाइसेंस बेचने वालों पर होगी कड़ी कार्रवाई

अमृतसर8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
पिछले साल सजाई गई पटाखा मार्केट। - Dainik Bhaskar
पिछले साल सजाई गई पटाखा मार्केट।

दीवाली से पहले सजने वाली पटाखा मार्केट के लिए 700 के करीब आवेदन डीसी ऑफिस पहुंच चुके हैं। इस साल 25 अक्टूबर को पटाखा दुकानों का लाइसेंस जारी करने के लिए लक्की ड्रा निकाला जाना है। डीसी ऑफिस ने घोषणा की है कि इस साल का ड्रा 25 अक्टूबर को निकाला जाएगा। लेकिन मार्केट कहां सजाई जानी है, इसके लिए जगह अभी निर्धारित की जानी है। इसके साथ ही आदेश जारी किए गए हैं कि बिना लाइसेंस के पटाखे बेचने वालों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। यह आदेश 31 जनवरी 2022 तक जारी रहेेंगे। देखने योग्य है कि इन 700 आवेदनों में से 250 फार्म एक ही व्यापारी से आए हैं, जो उसने अपने विभिन्न रिश्तेदारों से भरवाए हैं।

इस बार पटाखे बेचने के आवेदन DCP ऑफिस के असलहा ब्रांच में न लेते हुए, सेवा केंद्रों में ऑनलाइन लिए गए हैं। पिछले साल DC के नाम से सिर्फ एक एप्लिकेशन जमा करवानी होती थी तो इस साल बकायदा 100 रुपए फीस भी रखी गई है। जिसके बाद इस साल पिछले साल के मुकाबले साढ़े तीन गुणा कम आवेदन मिले हैं। यह फैसला पिछले साल के हालातों को देखते हुए लिया गया था। गौरतलब है कि पिछले साल पटाखा मार्केट सजाने के लिए 2753 आवेदन आ गए थे।

अमृतसर के डीसी गुरप्रीत सिंह खेहरा।
अमृतसर के डीसी गुरप्रीत सिंह खेहरा।

एक ही व्यापारी ने जमा करवाए 250 फार्म

बीते साल 2753 आवदेन DCP ऑफिस के असलहा ब्रांच में जमा हुए थे, जिनमें से 2000 फार्म एक ही व्यापारी ने भरवा लिए थे। लेकिन इस साल फीस रखे जाने के चलते फार्म तो कम आए हैं, लेकिन फिर भी 250 आवेदन एक ही व्यापारी के यहां से पहुंचे हैं, जो उसने अपने रिश्तेदारों या जानकारों से भरवा लिए हैं। इसके बाद व्यापारियों ने अगले साल फीस 1000 रुपए रखने की मांग उठाई है, ताकि कोई भी अधिक फार्म भरवाने की कोशिश न कर सके।

पूरी पारदर्शिता से बांटे जाएंगे लाइसेंस डीसी

डीसी गुरप्रीत खैहरा ने कहा कि पटाखे बेचने के लाइसेंस पूरी पारदर्शिता के साथ जारी किए जाएंगे। अधिकारियों को उनकी ड्यूटियां बांट दी गई हैं। उनकी निगरानी में ही सारे काम होंगे। वहीं अगर कोई बिना लाइसेंस के पटाखे बेचता पकड़ा गया ताे उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।