पंजाब में 1 किलो RDX और 2 ग्रेनेड बरामद:दीनानगर और भैणी मियां खां में बरामदगी, पठानकोट में हुए ग्रेनेड हमले से जोड़े जा रहे तार

अमृतसर / गुरदासपुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
दीनानगर में RDX मिलने के बाद अलर्ट पुलिस। - Dainik Bhaskar
दीनानगर में RDX मिलने के बाद अलर्ट पुलिस।

पंजाब की गुरदासपुर पुलिस को बड़ी सफलता मिली है। पुलिस ने आज एक तस्कर की निशानदेही पर गुरदासपुर पुलिस ने दीनानगर के पास से 1 किलो RDX और तीन डेटोनेटर को जब्त किया। वहीं दो युवकों की निशानदेही पर गांव भैणी मियां खां से दो हैंड ग्रेनेड बरामद कर लिए हैं।

जानकारी के अनुसार पंजाब पुलिस ने अमृतसर के लोपोके एरिया के कक्कड़ गांव में रहने वाले सुखविंदर सिंह को पिस्टल के साथ गिरफ्तार किया था। आरोपी के पहले से ही पाकिस्तान तस्करों से संबंध थे। पूछताछ में आरोपी सुखविंदर ने पुलिस को RDX की जानकारी दी। इसके बाद बताई गई जगह पर पुलिस पुहंची और 1 किलो RDX और तीन डेटोनेटर को जब्त किया। बताया जा रहा है कि सुखविंदर के पाकिस्तानी तस्करों से संबंध रहे हैं। वे हेरोइन के साथ-साथ कई बार हथियारों की खेप बॉर्डर पार से मंगवाता रहता है।

दोनों युवकों की भी पिस्टल के साथ हुई थी गिरफ्तारी

गुरदासपुर पुलिस ने दो युवकों बड़ी मियाणी टांगा जिला गुरदासपुर निवासी राज सिंह और जसमीत सिंह को बीते दिनों पिस्टल के साथ टी प्वाइंट धुस्सी बांध शाहपुर बेट से गिरफ्तार किया था। दोनों युवक बाइक पर थे और तलाशी में उनसे एक पिस्टल बरामद हुआ था। दोनों आरोपी चार दिन की पुलिस रिमांड पर थे, तभी आरोपियों ने गुरदासपुर पुलिस को दो हैंड ग्रेनेड्स की जानकारी दी। पुलिस ने तुरंत भैणी मियां खा में सर्च की और उन्हें दो हैंड ग्रेनेड मिले।

पठानकोट से मात्र 32 किलोमीटर दूर दीनानगर

सुरक्षा के लिहाज से दीनानगर बहुत संवेदनशील इलाका है। यह इलाका जहां एक तरफ भारत-पाक इंटरनेशनल बॉर्डर से लगता है वहीं दूसरी तरफ यहां से पठानकोट मात्र 32 किलोमीटर दूर है। बॉर्डर पर सटे होने के कारण यहां कई बार ड्रोन गतिविधियां होती रही हैं।

पठानकोट में आर्मी कैंट गेट पर फेंके गए ग्रेनेड जैसे
कुछ दिन पहले ही पठानकोट में आर्मी कैंट के गेट पर ग्रेनेड हमला हुआ था। इस हमले में जिस तरह के ग्रेनेड का इस्तेमाल किया गया था, वह सुखविंदर सिंह और उसके साथियों से बरामद हैंड ग्रेनेड से मेल खाता हैं। आशंका जताई जा रही है कि पठानकोट के हैंड ग्रेनेड हमले में भी इनका हाथ हो सकता हे। पुलिस व अन्य एजेंसियां इसकी जांच कर रही हैं।

खबरें और भी हैं...