पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

अमृतसर में सड़कों पर लगाए गए पॉम ट्री:स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट के तहत 3 मुख्य मार्गों का किया सौंदर्यीकरण, लेकिन क्या पेड़ फल-फूल सकेंगे... उठने लगे सवाल

अमृतसर13 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
एमएम मालविया रोड पर लगे पॉम ट्री। - Dainik Bhaskar
एमएम मालविया रोड पर लगे पॉम ट्री।

स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट के अंतर्गत पंजाब के अमृतसर जिले में कई प्रोजेक्ट तेजी से चल रहे हैं। कहीं टाइलें लगाने का काम चल रहा है तो कहीं चौंकों को ऊंचा करने का काम हो रहा है। वहीं प्रोजेक्ट के अंतर्गत शहर में कई जगह पॉम ट्री लगाए जा रहे हैं। देखने में तो ये काफी सुंदर दिख रहे हैं, लेकिन इनको लगाने के तरीकों से साफ हो जाता है कि 50 प्रतिशत से अधिक पेड़ आने वाले कुछ दिनों में ही सूख जाएंगे और खराब हो जाएंगे।

स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट के अंतर्गत शहर की तीन मुख्य सड़कों एमएम मालविया रोड, कोर्ट रोड और रत्न सिंह चौक के आसपास पॉम ट्री लगाने का काम तेजी से चल रहा है। मालविया रोड और कोर्ट रोड पर तो इन्हें खड़ा भी कर दिया गया है। यह देखने में बहुत ही सुंदर दिख रहे हैं। लेकिन इन्हें सीधे तौर पर बिना नियमों की पालना किए, मिट्‌टी में दबा कर लगा दिया गया है। पर्यावरण प्रेमियों का कहना है कि यह पेड़ अधिक समय तक टिकने वाले नहीं हैं। पेड़ या तो जल्द सूख जाएंगे या मुरझा जाएंगे।

क्या होता है पॉम ट्री को लगाने का तरीका

पर्यावरण प्रेमियों की सुनें तो पॉम ट्री को बहुत ही नाजुक पेड़ माना गया है। इसे लगाने से पहले पेड़ों को फोमिगेट किया जाता है। फोमिगेट एक ऐसी प्रक्रिया होती है, जिसमें इस पर दवा छिड़ककर इसे जीवाणु मुक्त किया जाता है। दूसरा इसे लगाते समय रेत और मिट्‌टी काे भी डाला जाता है। लेकिन मिट्‌टी वही होती है, जहां से इसे उखाड़ कर लाया जाता है, ताकि ये पेड़ वातावरण में हुए बदलाव को झेल सकें।

पॉम ट्री को सीधा मिट्‌टी में लगा दिया गया है।
पॉम ट्री को सीधा मिट्‌टी में लगा दिया गया है।
खबरें और भी हैं...