पाइटैक्स मेले में पॉकेटमार गैंग सक्रिय:स्कूल प्रिंसिपल के पर्स में से निकाला छोटा पैसों वाला वॉलेट, खाली करके साइड में फेंका

अमृतसर7 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
प्रिंसिपल राज कुमारी, जिनका पर्स जेबकतरों ने चुरा लिया। - Dainik Bhaskar
प्रिंसिपल राज कुमारी, जिनका पर्स जेबकतरों ने चुरा लिया।

पंजाब के अमृतसर शहर में चल रहे पाइटैक्स मेले में पॉकेटमार गैंग सक्रिय हो गया है। मेले में 5 देशों के व्यापारी और बिजनेसमैन अपने प्रोडक्ट लेकर पहुंचे हैं। रोजाना 35 हजार के करीब लोग शॉपिंग करने पहुंच रहे हैं। हर कोई अपनी जेब में हजारों रुपए लेकर चल रहा है। लेकिन इन्हीं पैसों पर हाथ साफ करने के मकसद से पॉकेटमार गैंग भी भीड़ में सक्रिय हो गया है, जिन्होंने गवर्नमेंट स्कूल की प्रिंसिपल को अपना शिकार बनाया।

शॉपिंग के लिए पाइटैक्स पहुंची प्रिंसिपल के पर्स से किसी ने छोटे पैसों का वॉलेट निकाल लिया और खाली करके फेंक दिया। एक पुलिसकर्मी ने फोन करके उन्हें पर्स चोरी होने के बारे में बताया। गवर्नमेंट स्कूल प्रिंसिपल राज कुमारी ने बताया कि वह अपने परिवार के साथ पाइटैक्स में शॉपिंग के लिए गई थी। कई स्टॉलस पर वह शॉपिंग कर चुकी थी। उन्होंने पैसे संभालने के लिए अपने पर्स में अलग से एक छोटा पर्स डाल रखा था।

कुछ समय बाद जब उन्होंने एक दुकानदार को पैसे देने के लिए पर्स खोला तो उनका पैसों वाला छोटा पर्स गायब था। वह हैरान थी कि उनके पर्स की जिप भी बंद थी, लेकिन उसमें से सिर्फ छोटा पैसों वाला पर्स गायब था। इस बीच उन्हें एक पुलिसकर्मी का फोन आया। उसने बताया कि उनका पर्स साइड पर गिरा हुआ था। पर्स में डॉक्यूमेंट से पुलिसकर्मी को उनका फोन नंबर मिला। जब उन्होंने पर्स देखा तो उसमें से सिर्फ पैसे ही गायब थे।

महिला गैंग हो सकती है सक्रिय

पुलिस का मानना है कि पाइटैक्स में महिला गैंग सक्रिय हो सकता है। यह महिलाएं भीड़ का फायदा उठाकर घटना को अंजाम देती हैं। दो साल पहले यह महिला गैंग पुतलीघर एरिया में काफी अधिक सक्रिय था। महिलाएं भीड़ में धक्का देती हैं और पर्स की जिप खोल पैसे निकालती हैं और पर्स को पहले की तरह बंद कर देती हैं।

चेन बनाकर चलती हैं महिलाएं

यह महिला गैंग चेन बनाकर चलती हैं। पर्स से पैसे निकालने वाली और धक्के मारने वाली महिलाएं अलग-अलग होती हैं। इतना ही नहीं यह महिलाएं पैसे या पर्स चोरी करने के बाद तुरंत एक दूसरे को पकड़ा देती हैं, ताकि पकड़े जाने पर उनसे कुछ भी न मिले और वे आसानी से बच सकें।