अमृतसर में 586 कोरोना एक्टिव केस:संक्रमितों में 40 डॉक्टर और SSOC के 17 पुलिस कर्मी भी शामिल; 62 अस्पताल, 2 वेंटिलेंटर पर

अमृतसर10 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

पंजाब के अमृतसर जिले में कोरोना का ग्राफ लगातार ऊपर जा रहा है। शुक्रवार को एक दिन में 276 लोग कोरोना की चपेट में आ गए। दूसरी लहर के बाद यह पहली बार है, जब आंकड़ा 200 के पार चला गया। लेकिन सेहत विभाग बढ़ रहे इस ग्राफ पर लगातार नजर बनाए हुए हैं। कोरोना की एनालिटिक्स रिपोर्ट के आंकड़े, युवाओं को कोरोना से सतर्क रहने को कह रहे हैं।

सेहत विभाग की रिपोर्ट के अनुसार, 21 से 30 साल के युवाओं को सर्वाधिक सतर्क रहने की जरूरत है। सबसे अधिक इसी उम्र के युवा कोरोना की चपेट में जा रहे हैं। शुक्रवार की रिपोर्ट के अनुसार, 0 से 20 साल के 32 तो 21 से 30 साल के 86 युवा कोरोना की चपेट में आए हैं।

वहीं कोरोना मरीजों के सीधा संपर्क में रहने वाले डॉक्टर भी इससे बच नहीं पा रहे। अमृतसर में इस समय एक्टिव केसों की गिनती 586 हो चुकी है, लेकिन अस्पताल में सिर्फ 62 मरीज ही दाखिल हैं। इनमें से 2 की हालत गंभीर है और उन्हें वेंटिलेटर पर रखा गया है।

40 डॉक्टर व सहयोगी भी चपेट में

आंकड़ों के अनुसार, मेडिकल कॉलेज के विभिन्न विभागों के 25 के करीब डॉक्टर व सहयोगी इस समय कोरोना की चपेट में आ चुके हैं। इनमें पढ़ रहे युवा डॉक्टर, रेडियोग्राफर और डेंटल कॉलेज के स्टूडेंट्स भी हैं। वहीं सेहत विभाग के 15 के करीब डॉक्टर और स्टाफ भी इस समय कोरोना की चपेट में हैं।

SSOC भी कोरोना की चपेट में

नशा तस्करों को पकड़ते हुए अमृतसर का स्टेट स्पेशल ऑपरेशन सेल (SSOC) भी कोरोना की चपेट में आ गया है। SSOC के 17 सदस्य इस समय कोरोना की चपेट में हैं। इसके बाद फिलहाल पूरे स्टाफ को आइसोलेट कर दिया गया है। सभी की हालत ठीक थी। सभी को उनके घरों में ही आइसोलेट किया गया है।

खबरें और भी हैं...