चुनावी जलसे में सिद्धू ने मांगी माफी:बोले- रात 2 बजे भी फोन उठाएंगे, जोशी एहसान फरामोश है, ब्राह्मण समाज के लिए दिल में इज्जत

अमृतसर10 महीने पहले
नवजोत सिंह सिद्धू चुनावी सभा में माफी मांगते हुए।

नवजोत सिंह सिद्धू ने सोमवार रात अमृतसर ईस्ट में आयोजित विभिन्न रैलियों को संबोधित करते हुए माफी मांगी है। सिद्धू ने कहा कि उनमें भी कमियां हैं। वह उसके लिए माफी मांगते हैं। वह कमियों को सुधार रहे हैं। उन्होंने ईमानदारी से काम करने के लिए उन्हें वोट देने की अपील की।

नवजोत सिंह सिद्धू रविवार को राहुल गांधी की रैली के बाद अमृतसर ईस्ट हलके में पहुंचे, जहां उन्होंने शहर के विभिन्न हिस्सों में आयोजित रैलियों को संबोधित किया। उन्होंने इस दौरान अकाली दल व बिक्रम मजीठिया पर निशाना साधा। उन्होंने अपनी गलतियों को भी वोटरों के सामने माना और जल्द सुधारने की बात की।

उन्होंने अपनी गलती मानते हुए कहा कि वह अपने वोटरों से 5 साल दूर रहे। लेकिन वह इस गलती को सुधार रहे हैं। अब उनको हलके के लोग रात 2 बजे भी फोन करेंगे तो वह उठाएंगे। उनकी बीवी तो उनके बीच आती रहती है और सभी के संपर्क में हैं। इसलिए उन्हें माफ करना बनता है।

ब्राह्मण समाज के लिए दिल में इज्जत

वहीं उन्होंने अनिल जोशी को काला ब्राह्मण कहने पर भी ब्राह्मण समाज से माफी मांगी है। सिद्धू का कहना है कि अनिल जोशी एहसान फरामोश है। काला शब्द सिर्फ अनिल जोशी के लिए था। ब्राह्मण समाज के लिए उनके दिल में इज्जत है। अगर उनसे गलती हुई है तो वह अपना साफा धरती पर लगाकर माफी मांगते हैं।

बिक्रम मजीठिया पर वार

सिद्धू ने कहा कि अगर लोग घर-घर नशा बेचने वाले और लोगों पर पर्चे करवाने वालों को चाहते हैं तो उन्हें वोट न डालें। लेकिन ईमानदार इंसान चाहते हैं तो उन्हें वोट करें। एक भी इंसान कह दे कि सिद्धू ने उस पर पर्चा करवाया है तो वह राजनीति छोड़ देंगे।

खबरें और भी हैं...