CM चन्नी पहुंचे सरहदी गांव:आम आदमी बन जमीन पर बैठ चखा साग व मक्की की रोटी का स्वाद, लोगों को साधारण शादी की नसीहत

अमृतसरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
सरहदी गांव खुआली में जमीन पर बैठ चखा मक्की की रोटी और साग का स्वाद। - Dainik Bhaskar
सरहदी गांव खुआली में जमीन पर बैठ चखा मक्की की रोटी और साग का स्वाद।

पंजाब के मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी सोमवार रात सरहदी गांवों में रहने वाले छोटे किसानों का हालचाल जानने के लिए गांव खुआली पहुंच गए। इस दौरान उन्होंने गांव वालों के साथ समय बिताया और उनके हाथों से बनी मक्की की रोटी और सरसों का साग जमीन पर बैठ खाया। गांव में उन्होंने लोगों को साधारण शादियां करने के लिए भी प्रेरित किया। CM चन्नी ने गांव खुआली में पहुंच लोगों व छोटे किसानों से बातचीत की।

गांव के बुजुर्गों के साथ बातचीत करते हुए CM चन्नी।
गांव के बुजुर्गों के साथ बातचीत करते हुए CM चन्नी।

किसानों से बातचीत के बाद CM ने कहा कि जिन किसानों के पास 15 एकड़ जमीन है, वे भी दो वक्त की रोटी ठीक ढंग से नहीं खा पा रहे। कड़ी मेहनत करने के बावजूद अपनी जरूरतों को पूरा करने के लिए उन्हें संघर्ष करना पड़ रहा है। किसानों ने CM से कहा कि अब परिवार बड़े हो रहे हैं और किसानों के पास जमीनें छोटी होती जा रही हैं। ऐसे में परिवारों को पालना आसान नहीं है। समय के साथ किसानी की आमदनी भी कम हो रही है और खर्चे बढ़ते जा रहे हैं। सीएम चन्नी ने खेती किसानी को फायदेमंद बनाने के लिए किसानों से सुझाव मांगे। इसके साथ ही उन्होंने पराली का सही ढंग से निपटारा करने के लिए भी किसानों से सुझाव मांगे।

CM चरणजीत सिंह चन्नी गांव वालों के साथ बैठक कर रात का खाना खाते हुए।
CM चरणजीत सिंह चन्नी गांव वालों के साथ बैठक कर रात का खाना खाते हुए।

शादियों में खर्च करो कम

सीएम चन्नी ने अपने इस दौरे में गांवों में रह रहे बुजुर्गों के साथ भी समय व्यतीत किया। उन्होंने बुजुर्गों से उनकी सेहत का हाल जाना और उन्हें सरकार की तरफ से दी जा रही सेहत-सुविधाओं के बारे में भी बताया। वहीं उन्होंने लोगों से अपील की कि शादियों में किए जा रहे खर्च को कम किया जाए। दिखावे के लिए किसान अपनी आमदन से अधिक खर्च कर देता है और अंत में उसे कर्जे के बोझ के नीचे आना पड़ता है।

खबरें और भी हैं...