मोस्ट वॉन्टेड आतंकी हरविंदर रिंदा की पाकिस्तान में मौत:बंबीहा गैंग का दावा- हमने मारा, मूसेवाला मर्डर का बदला लिया

अमृतसर3 महीने पहले

पंजाब के कुख्यात गैंगस्टर आतंकी हरविंदर रिंदा की पाकिस्तान के लाहौर में मौत हो गई है। हालांकि इसकी वजह साफ नहीं हो पाई है। कुछ मीडिया रिपोर्ट्स में कहा जा रहा है कि उसे गोली लगी थी, जबकि कुछ में कहा जा रहा है कि मौत दवाओं के ओवरडोज से हुई। इस बीच बंबीहा गैग ने सोशल मीडिया पर दावा किया है कि रिंदा को उसने मारकर सिद्धू मूसेवाला की हत्या का बदला लिया है।

बताया जा रहा है कि रिंदा को किडनी की बीमारी थी। लाहौर के जिंदल अस्पताल में उसका इलाज चल रहा था। यहां से उसे मिलिट्री हॉस्पिटल में भर्ती किया गया था। सूत्रों के मुताबिक रिंदा को अस्पताल में एक इंजेक्शन दिया गया, जिसके बाद उसकी मौत हो गई

बंबीहा गैंग का दावा- मूसेवाला की हत्या के पीछे रिंदा
बंबीहा गैंग ने सोशल मीडिया पोस्ट में लिखा कि रिंदा को उन्होंने ही पाकिस्तान में सैट कराया था। इसके बाद वह विरोधी गैंग से मिल गया। उसने पंजाबी सिंगर सिद्धू मूसेवाला के कत्ल में भी गैंगस्टर लॉरेंस और गोल्डी बराड़ का साथ दिया था।

रिंदा खालिस्तानी आतंकी संगठन बब्बर खालसा इंटरनेशनल (BKI) से भी जुड़ा हुआ था। कहा जाता है कि भारत में BKI का हैंडलर रिंदा ही था। पंजाब में टारगेट किलिंग और आतंक फैलाने के पीछे रिंदा ही था।

बंबीहा गैंग ने जिम्मेदारी लेकर दावा किया कि रिंदा का कत्ल किया गया है। उन्होंने कहा कि रिंदा नशे का काम करने लगा था।
बंबीहा गैंग ने जिम्मेदारी लेकर दावा किया कि रिंदा का कत्ल किया गया है। उन्होंने कहा कि रिंदा नशे का काम करने लगा था।

नेपाल के रास्ते पाकिस्तान भागा था
रिंदा पंजाब के तरनतारन का रहने वाला था। बाद में वह नांदेड़ महाराष्ट्र में शिफ्ट हो गया। उसे सितंबर 2011 में कत्ल के केस में उम्रकैद की सजा हुई थी। कई क्रिमिनल केसों में नाम सामने आने के बाद वह नेपाल के रास्ते फेक पासपोर्ट पर पाकिस्तान भाग गया। वहां पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी ISI ने उसे अपना गुर्गा बना लिया। वह पाकिस्तान से पंजाब में लगे इंटरनेशनल बॉर्डर के जरिए ड्रोन से हथियार भेजने लगा। पंजाब में हाल ही में हुई कई बड़ी वारदातों में उसका नाम सामने आया था।

रिंदा को पंजाब पुलिस ने मोस्ट की कैटेगरी में रखा था। रिंदा पर 10 लाख का इनाम घोषित किया गया था।
रिंदा को पंजाब पुलिस ने मोस्ट की कैटेगरी में रखा था। रिंदा पर 10 लाख का इनाम घोषित किया गया था।

पंजाब ​​​पुलिस को कई केसों में रिंदा की तलाश थी
पुलिस के मुताबिक हरविंदर रिंदा एक हिस्ट्रीशीटर था। वह पंजाब, हरियाणा, चंडीगढ़ और महाराष्ट्र में कुख्यात गैंगस्टर रहा। मर्डर, कॉन्ट्रैक्ट किलिंग, डकैती, फिरौती और स्नेचिंग के कई मामलों में वह पंजाब पुलिस का वॉन्टेड था।

रिंदा ने यह वारदातें कराई
हरविंदर रिंदा ने हाल ही में पंजाब पुलिस के इंटेलिजेंस हेडक्वार्टर पर रॉकेट अटैक करवाया। इससे पहले वह नवाशंहर के CIA दफ्तर, आनंदपुर साहिब और पुलिस चौकी काहलवां में IED हमले करवा चुका है। इसके अलावा करनाल में कुछ वक्त पहले मिले बम के पीछे भी रिंदा ही था।

रिंदा ही ड्रोन के जरिये सरहद पार से हथियारों-ड्रग सप्लाई का मास्टरमाइंड, बॉर्डर बेल्ट में खड़े किए मॉड्यूल​​​​​​​

भारत से 5 साल पहले नेपाल के रास्ते पाकिस्तान भागे आतंकी हरविंदर रिंदा ने ही बॉर्डर पार से इंडिया में नार्को टेरेरिज्म की शुरुआत की। इसमें उसका साथ दिया पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी ISI ने। रिंदा का जन्म पंजाब के सरहदी जिले तरनतारन में ही हुआ था इसलिए उसे इस पूरे इलाके की अच्छी जानकारी थी। क्राइम की दुनिया से जुड़े रहे रिंदा ने बॉर्डर से लगते एरिया में अलग-अलग मॉड्यूल खड़े किए और उनके जरिये सरहद पार से ड्रोन के जरिये हथियारों और ड्रग की सप्लाई शुरू की। पूरी खबर पढ़िए...