बब्बू मान ने दरबार साहिब में टेका माथा:बोले- किसान देश की बैक बोन, आगे भी अगर सरकारें ऐसा करेंगी तो उन्हें झुकना होगा

अमृतसर5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
दरबार साहिब में माथा टेकने के लिए जाते हुए बब्बू मान। - Dainik Bhaskar
दरबार साहिब में माथा टेकने के लिए जाते हुए बब्बू मान।

किसान आंदोलन खत्म होने के बाद सोमवार को पंजाबी गायक बब्बू मान अमृतसर में दरबार साहिब में माथा टेकने पहुंचे। अमृतसर आते वक्त रास्ते में किसानों का स्वागत करने के लिए खड़े लोगों ने उनकी गाड़ी भी घेर ली और उतरकर तस्वीर खिंचवाने की जिद करने लगे। उन्होंने दरबार साहिब में माथा टेकने की बात कहते हुए अपना रास्ता मांगा। अमृतसर पहुंचने पर उन्होंने किसानों की जीत को पूरे देश की जीत कहा।

रास्ते में किसानों ने बब्बू मान की कार को घेर लिया, तब बब्बू मान ने दरबार साहिब से आकर दोबारा मिलने की बात कही।
रास्ते में किसानों ने बब्बू मान की कार को घेर लिया, तब बब्बू मान ने दरबार साहिब से आकर दोबारा मिलने की बात कही।

उन्होंने कहा कि किसान देश की बैक बोन हैं। उनके साथ ऐसा कभी करना ही नहीं चाहिए था। आने वाली सरकारों को भी समझ लेना चाहिए कि किसानों के खिलाफ जाना ठीक नहीं है। उन्होंने कहा कि किसानों की जीत के पीछे सिर्फ गुरु नानक देव की शिक्षा ने काम किया है। गुरु नानक देव हमेशा कहा करते थे कि शांति से सवाल जवाब करो। हुआ भी यही। किसानों ने अपने नेता आगे भेजे। टेबल पर बात हुई और सरकार को झुकना पड़ा। सबसे बड़ी बात है कि किसानों ने सब्र रखा और एक साल के बाद जीत हासिल की।

जहां सरकारें फेल हुई, किसान जीते

बब्बू मान ने कहा कि देश की सरकार कोरोना काल में फेल हो गई, लेकिन किसान वहां भी डटे रहे। सिख कौम की बात करें तो वे हर जगह मदद के लिए पहुंचे। उन्होंने कहा कि जो एकता किसान बनाकर पंजाब में लौटे हैं, वे एकता बनी रहनी चाहिए। इस एक साल में पूरे देश के किसान एक साथ खड़े हुए। किसान एकता बनाए रखेंगे तो सरकारें आगे भी उनके खिलाफ नहीं जा पाएंगी।

किसानों के हक में बात करते हुए बब्बू मान।
किसानों के हक में बात करते हुए बब्बू मान।

सरकार को अब कोसना बंद करें

बब्बू मान ने कहा कि फतेह के बाद अब किसान घर आ चुके हैं। अब सरकार को कोसना बंद कर देना चाहिए। सरकार को नीचा कर दिया, सरकार से घुटने टिकवा दिए, ऐसी शब्दावली नहीं बरतनी चाहिए। सरकार ने अपनी गलती मान ली है और माफी भी। ऐसे में हमें अब सरकार को कोसना बंद कर देना चाहिए।

खबरें और भी हैं...