इंडो-पाक बॉर्डर के पास 200 करोड़ की हेरोइन बरामद:अमृतसर पुलिस ने बीएसएफ के साथ मिलकर देर रात सर्च ऑपरेशन चलाकर जब्त की खेप, पाईप के जरिए भेजी गई

अमृतसर3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
भारत-पाक सीमा पर पकड़ी गई हेरोइन के साथ रूरल के एसएसपी गुलनीत खुराना और बीएसएफ के अधकिारी। - Dainik Bhaskar
भारत-पाक सीमा पर पकड़ी गई हेरोइन के साथ रूरल के एसएसपी गुलनीत खुराना और बीएसएफ के अधकिारी।

अमृतसर की रमदास थाना पुलिस ने इंडो-पाक बॉर्डर के पास पंज गराइयां बीओपी से 40 किलोग्राम हेरोइन और 180 ग्राम अफीम जब्त की है। इस हेरोइन की कीमत इंटरनेशनल मार्केट में 200 करोड़ के करीब आंकी गई है। यह सर्च ऑपरेशन रूरल पुलिस और बीएसएफ ने मिलकर चलाया। SSP रूरल के ऑफिस को रात 12 बजे इनपुट मिला कि सरहद पार से नशे की बड़ी खेप आ रही है। रूरल पुलिस ने जब इसकी सूचना बीएसएफ को दी तो मामला समझ में आया। उसी रात बीएसएफ के जवानों और तस्करों के बीच फायरिंग भी हुई थी। रात उसी समय फैंसिंग पार सर्च ऑपरेशन चलाया गया।

बार्डर पार से भेजी गई हेरोइन की खेप।
बार्डर पार से भेजी गई हेरोइन की खेप।

एसएसपी रूरल गुलनीत खुराना ने जानकारी दी है कि इस खेप को घरिंडा एरिया मे रहने वाले तस्कर निर्मल सिंह उर्फ सोनू ने मंगवाया था। रात इनपुट मिली और बीएसएफ के साथ संपर्क किया गया। बीएसएफ की भी रात के समय तस्करों के साथ मुठभेड़ हुई थी। जिसके बाद तस्कर खेप को वहीं छोड़ फरार हो गए थे। पुलिस ने बीएसएफ के साथ रात के समय ही सर्च ऑपरेशन शुरु किया। जिसके बाद रात 3 बजे पुलिस और बीएसएफ को पंज गराइयां बीओपी एरिया से 40 किलोग्राम हेरोइन और 180 ग्राम अफीम मिली। यह खेप पाइप के माध्यम से कंटीली तारों से पार करवाई गई थी। यह पूरी खेप 39 पैकेट्स में बंद थी। फायरिंग के बाद भागे तस्कर अपना स्कूटर वहीं छोड़ गए। जिसे पुलिस ने जब्त कर लिया है। आरोपी तस्कर सोनू की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी शुरु कर दी है। वहीं पुलिस ने अभी भी बार्डर पर सर्च ऑपरेशन चला रखा है।

आरोपी सोनू, जिसने बार्डर पार से मंगवाई थी खेप।
आरोपी सोनू, जिसने बार्डर पार से मंगवाई थी खेप।

बार्डर पर बड़ी है हलचल

बीते दिनों बॉर्डर पर भी काफी हलचल देखने को मिली है। कुछ दिन पहले ड्रोन के जरिए मिले टिफिन बम और हथियारों की खेप लोपोके एरिया से मिली थी। इसके कुछ दिन बाद ही दो आतंकियों को दो ग्रेनेड व पिस्टलों के साथ पकड़ा था। जिसके बाद से ही बॉर्डर पर पुलिस ने सख्ती बढ़ा दी है।

NIA भी बॉर्डर एरिया में मौजूद
लोपोके के बच्चीविंड एरिया में मिले टिफिन बम मामले में जांच करने के लिए NIA शुक्रवार से ही बॉर्डर एरिया में पहुंच चुकी है। वहीं बॉर्डर पर बीते दिनों आतंकवादी गतिविधियों के चलते भी पुलिस पूरी तरह से मुस्तैद है और बॉर्डर पर हर दूसरे दिन सर्च ऑपरेशन किया जा रहा है।

बॉर्डर पर बढ़ेगी नशे की तस्करी
अफगानिस्तान में पैदा हुए हालातों और बंद हो चुके व्यापार के बाद अब कटीले तारों के पार से नशे की तस्करी बढ़ाने वाली है। गौरतलब है कि अफगानिस्तान से व्यापार के रास्ते भी पहले हेरोइन की खेप भारत पहुंच रही थी। बीते सालों में अटारी बॉर्डर इंटिग्रेटेड चेक पोस्ट से 560 किलोग्राम हेरोइन मिली और गुजरात एटीएस ने समुद्र के रास्ते भेजी गई 300 किलोग्राम हेरोइन जब्त की थी। वहीं अब दोनों रास्तों पर व्यापार बंद हो चुका है, जिसके बाद आशंका जताई जा रही थी कि बॉर्डर पार से अब हेरोइन की सप्लाई तेज होगी।

खबरें और भी हैं...