• Hindi News
  • Local
  • Punjab
  • Amritsar
  • Rural Police Started Investigation With 100 Intoxicating Pills, So Far 5 Arrested And Recovery Reached 2 Lakh Bullets

अमृतसर में नशीले पदार्थों की तस्करी का धंधा:100 गोलियों के साथ शुरू हुई जांच 2 लाख की रिकवरी तक पहुंची; अब तक 5 आरोपी गिरफ्तार, आगे कार्रवाई जारी

अमृतसर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
प्रतीकात्मक तस्वीर - Dainik Bhaskar
प्रतीकात्मक तस्वीर

पंजाब के अमृतसर जिले की देहात पुलिस ने नशे के खिलाफ कार्रवाई करते हुए एक बड़े नेटवर्क को बेनकाब कर दिया है। 100 नशीली गोलियों के साथ पकड़े गए एक आरोपी से जब पुलिस ने जांच शुरू की तो पहले एक केमिस्ट शॉप का मालिक पकड़ में आया। इसके बाद जांच बढ़ती गई और पुलिस इस मामले में अब तक कुल 5 लोगों को गिरफ्तार कर चुकी है।

इतना ही नहीं अभी तक पुलिस इस मामले में 1.94 लाख नशीली गोलियां भी जब्त कर चुकी है। जांच 2 अक्टूबर से शुरू हुई थी। डीएसपी अभिन्यु राणा और कत्थूनंगल थाना के एचएसओ हिमांशु भगत ने गुप्त सूचना के आधार पर गांव राम दिवाली में हिंदुजा गैस सर्विस के नजदीक नाकाबंदी करके इसी गांव के कर्मजीत संह को गिरफ्तार किया था। पुलिस ने तलाशी में आरोपी से 100 नशीली गोलियां बरामद की।

भुल्लर मेडिकल स्टोर का नाम सामने आया

यूं तो पुलिस एनडीपीएस का पर्चा दर्ज करके उसे ऐसे ही छोड़ सकती थी। लेकिन पुलिस ने जांच आगे बढ़ाने का फैसला किया। कार्रवाई के दौरान पता चला कि आरोपी नशीली गोलियां भुल्लर मेडिकल स्टोर वेरका से खरीदता है। ड्रग इंस्पेक्टर सुखदीप सिंह ने वहां दबिश दी। स्टोर के मालिक कृपाल सिंह से 780 नशीली गोलियां बरामद हुईं। कृपाल सिंह ने दो सप्लायर सनी टार्जन और रोहित कुमार का नाम लिया। रोहित को गिरफ्तार कर लिया गया है, जबकि सनी टार्जन अभी फरार है।

कटड़ा शेर सिंह तक पहुंचा मामला

मामला यहां भी नहीं रुका। जांच में गांव कटड़ा शेर सिंह के एक सटॉकिस्ट का नाम सामने आ गया। पुलिस ने वेलफेयर मेडिकल स्टोर में रेड की। स्टोर के मालिक नवीन गुप्ता से पुलिस को 13 हजार 539 नशीली गोलियां बरामद हुईं। जांच यहां भी नहीं रोकी गई। अब एक और सप्लायर का नाम सामने आ गया है। नवीन ने पुलिस को जानकारी दी कि वह यह सप्लाई गेट हकीमां के नजदीक फतेह सिंह कॉलोनी स्थित एसएस फार्मास्यूटिकल से खरीदता है।

1.80 लाख गोलियां फार्मास्यूटिकल से जब्त

पुलिस ने फार्मास्यूटिकल के मालिक मनीष कुमार को गिरफ्तार कर लिया। मनीष से पुलिस को 1.80 लाख नशीली गोलियां मिलीं। मनीष ने भी अब एक और नाम गुरु कृपा मेडिकल स्टोर का लिया है। पुलिस जब इस स्टोर तक पहुंची तो इसका मालिक विवेक महाजन फरार हो चुका था। पुलिस का कहना है कि वह अभी जांच खत्म नहीं करेगी। इसमें और भी बड़े नाम जुड़ सकते हैं।

खबरें और भी हैं...