कांग्रेस की लिस्ट में नाम कटा तो सच्चर बने भाजपाई:अमृतसर रूरल प्रधान की मजीठा से थी दावेदारी, ग्राणीण से बन सकते हैं BJP का चेहरा

अमृतसरएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

कांग्रेस हाईकमान की ओर से जारी 86 उम्मीदवारों की सूची में नाम न आने पर प्रतिक्रियाएं आनी शुरू हो गई हैं। मजीठा से दावेदारी पेश कर चुके अमृतसर कांग्रेस रूरल प्रधान भगवंत पाल सिंह सच्चर ने कांग्रेस के किनारा करते हुए BJP का दामन थाम लिया है। गौरतलब है कि कांग्रेस ने मजीठा से नए चेहरे को टिकट दी है, सच्चर पिछले कई महीने से दावेदारी पेश करते हुए हलके में सक्रिय थे।

भगवंत पाल सिंह सच्चर चार बार अमृतसर रूरल के प्रधान रह चुके हैं। कई महीनों से उन्होंने मजीठा हलके से चुनाव लड़ने की इच्छा के साथ मोर्चा संभाल रखा था। वहां लगातार रैलियां और बैठकें कर रहे थे। इसी बीच शनिवार को कांग्रेस हाईकमान ने उम्मीदवारों की पहली सूची जारी की। सूची में पंजाब की हॉट सीटों में से एक मजीठा से कांग्रेस ने पहले ही कांग्रेस छोड़ चुके सुखजिंदर राज सिंह लाली मजीठिया के चचेरे भाई जगविंदर पाल सिंह जग्गा मजीठिया को टिकट दी है।

सच्चर की सक्रियता से खफा हो लाली ने दिया इस्तीफा

लाली मजीठिया पिछले एक दशक से मजीठा हलके में कांग्रेस को जिंदा रखा। कैप्टन के जाने के बाद नवजोत सिंह सिद्धू ने लाली मजीठिया को दरकिनार कर दिया। सच्चर ने दिसंबर महीने से ही यहां प्रचार शुरू कर दिया। इस सक्रियता के कारण लाली मजीठिया ने कांग्रेस को छोड़कर आम आदमी पार्टी का दामन थाम लिया था।

अमृतसर रूरल के लिए BJP का चेहरा

कांग्रेस में अमृतसर रूरल के मौजूदा और चार बार प्रधान रह चुके भगवंत पाल सिंह सच्चर की देहात में काफी पकड़ है। इसलिए वह मजीठा में मजीठिया के खिलाफ उतरने को तैयार थे। अब BJP को रूरल एरिया के लिए एक और चेहरा मिल गया है। अमृतसर रूरल में सच्चर पहले से ही बड़ा नाम है।

खबरें और भी हैं...