तरनतारन पुलिस के 2 हेड कांस्टेबल डिसमिस:पैसे-नशीले पदार्थ लेकर छोड़ा था तस्करों को, 20 किलोग्राम अफीम का भी पता नहीं लग सका

अमृतसरएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
प्रतीकात्मक तस्वीर - Dainik Bhaskar
प्रतीकात्मक तस्वीर

40 लाख और 20 किग्रा अफीम लेकर छोड़ने वाले दो हेड कांस्टेबलों सुखजिंदर सिंह और मलकीयत सिंह को तरनतारन पुलिस ने डिसमिस कर दिया है। घटना के 10 दिन बाद भी दोनों आरोपी अभी तक पुलिस की गिरफ्त से बाहर हैं, जिसके बाद कागजी कार्रवाई करते हुए दोनों हेड कांस्टेबलों की डिसमिस कर दिया गया। वहीं दूसरी तरफ पुलिस अभी तक 20 किलोग्राम अफीम को भी रिकवर नहीं कर पाई है।

अक्टूबर में स्टेट स्पेशल ऑपरेशन सेल की टीम ने भिटेवड़ अमृतसर के रणजीत सिंह राणा और जसपाल सिंह को गिरफ्तार किया था। पूछताछ में उन्होंने पुलिस को जानकारी दी थी कि 20 अगस्त को हेड कांस्टेबल सुखविंदर सिंह, मलकीयत सिंह और कांस्टेबल अरपिंदरजीत सिंह व अर्शदीप सिंह ने अमृतसर रणजीत एवेन्यू से उन्हें पकड़ लिया था।

लेकिन बाद में सभी ने उनसे 40 लाख रुपए और 20 किलोग्राम अफीम लेकर उन्हें छोड़ दिया। 6 नवंबर को इन बयानों पर तरनतारन पुलिस ने कार्रवाई शुरू कर दी। दोनों आरोपियों के पकड़े जाने की खबर मिलते ही दोनों हेड कांस्टेबल सुखजिंदर और मलकीयत मौके से भाग गए थे। जबकि पुलिस ने दो कांस्टेबलों अरपिंदरजीत व अर्शदीप को पहले ही गिरफ्तार कर लिया था।

20 किलोग्राम अफीम तक नहीं पहुंच पा रही पुलिस

पुलिस घटना के 10 दिन बाद भी 20 किलोग्राम हेरोइन, जिसे चारों पुलिसवालों ने तस्करों से लिया था, को रिकवर नहीं कर पा रही है। पकड़े गए कांस्टेबलों ने भी हेरोइन के बारे में कोई जानकारी नहीं दी है। वहीं दोनों हेड कांस्टेबलों के न पकड़े जाने के कारण तरनतारन पुलिस की किरकिरी भी हो रही है।

कुछ और पुलिसकर्मियों के नाम भी आए हैं सामने

मामले में कुछ और पुलिसकर्मियों के नाम भी सामने आए हैं। पुलिस उन नामों को लेकर छानबीन कर रही है। लेकिन किसी कर्मी का नाम केस में अभी तक जोड़ा नहीं गया है। पुख्ता सबूतों के बाद पुलिस अन्य नामों पर भी कार्रवाई करेगी।

खबरें और भी हैं...