पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

नशा तस्कर टहला की 1.27 करोड़ की संपत्ति होगी जब्त:एसएसओसी ने वर्ष 2010 में पकड़ा था, मामले में 10 साल की कैद और 1 जुर्माना लगाया था

अमृतसर2 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

पंजाब पुलिस ने ड्रग तस्करों की संपत्ति जब्त करने की कवायद शुरू कर दी है। तस्करों पर कार्रवाई करने के लिए केस तैयार कर मंजूरी के लिए नई दिल्ली संबंधित विभाग काे भेजे जा रहे हैं। इसी कड़ी में एनडीपीएस एक्ट कंपीटेंट अथाॅरिटी ने ड्रग तस्कर टहल सिंह उर्फ टहला की संपत्ति जब्त करने की परमिशन पंजाब पुलिस को दे दी है। पुलिस कमिश्नर डाॅ. सुखचैन सिंह गिल का कहना है कि बी डिवीजन थाने के एसएचओ गुरविंदर सिंह ने ड्रग तस्कर टहल सिंह टहला निवासी न्यू आजाद नगर का केस दिल्ली भेजा था। वहां से मंजूरी के बाद कार्रवाई शुरू कर दी है। सीपी ने जिला माल अफसर काे टहिल सिंह की जायदाद जब्त करने के निर्देश दिए हैं।

बता दें कि टहल सिंह टहला के खिलाफ स्टेट स्पेशल ऑपरेशन सैल ने 18 मार्च 2010 काे एक किलाे हेरोइन बरामद कर केस दर्ज किया था। मामले में अमृतसर की अदालत ने 10 वर्ष की कैद व एक लाख रुपए जुर्माना की सजा दी थी। इसके कुछ समय बाद पैरोल पर बाहर आया टहिला फिर से नशा तस्करी करने लगा।

इसी बीच बी डिवीजन थाने की पुलिस ने टहल सिंह काे 1 अगस्त 2019 काे गिरफ्तार किया था, उससे 265 ग्राम हेराेइन, 300 ग्राम अफीम, 32 बाेर का 1 पिस्टल तथा 2 लाख रुपए की ड्रग मनी मिली थी। दिल्ली काे भेजे गए केस में पंजाब पुलिस ने दावा किया था कि टहिल सिंह ने ड्रग तस्करी के जरिए करोड़ों रुपए की संपत्ति खड़ी कर ली है। कुछ संपत्ति की पहचान कर केस तैयार दिल्ली भेजा गया था, दिल्ली से जायदाद जब्त करने की मंजूरी मिली है।
रेलवे में टीटीआई था टहला, 2010 में रेलवे ने किया था सस्पेंड
टहिल सिंह टहला जिला तरनतारन की तहसील पट्टी का रहने वाला है। वह कबड्डी का नेशनल स्तर का खिलाड़ी रह चुका है। खेल काेटे से ही उसे रेलवे में टीटीई की नौकरी मिली थी। नौकरी के दाैरान ट्रेनों में सफर करने वाले कई ड्रग तस्करों के संपर्क में आया था और फिर उसने हेरोइन की तस्करी शुरू कर दी। वर्ष 2010 में एसएसओसी ने टहिला को 1 किलाे हेरोइन समेत काबू किया तो रेलवे ने उसे डिसमिस कर दिया। लाेगाें का कहना है कि टहिल सिंह कबड्डी व कुश्ती का बेहतरीन खिलाड़ी था।

खबरें और भी हैं...