पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Punjab
  • Amritsar
  • The Flow Of Foreign Birds Started In Harike Lake A Month Ago, Birds Used To Come In The Third Week Of November, This Time Thousands Have Arrived

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

विदेशी परिंदों की आमद:हरिके झील में एक महीना पहले ही विदेशी परिंदों की आमद शुरू, नवंबर के तीसरे हफ्ते आने लगते थे पक्षी, इस बार हजारों आ चुके

अमृतसरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

सतलुज और ब्यास दरिया के संगम पर बनी हरिके झील में हर साल आने वाले विदेशी पक्षियों की आमद इस साल एक महीना पहले ही शुरू हो गई है। पिछले चंद दिनों में ही यहां हजारों विदेशी परिंदे डेरा जमा चुके हैं। हरिके बर्ड सेंक्चुरी से जुड़े अिधकारी लॉकडाउन के कारण साफ हुए यहां के हवा-पानी को पक्षियों के जल्द आने का कारण मान रहे हैं। अब तक यहां गल्स, ब्लैक कूट, रूडी शैल डॉक, ग्रे लैग गीस, स्पून विल, कॉमन पोचार्ड, ग्रे हेरोन, पिड एवोसैट समेत कई प्रजातियों के परिंदे पहुंच चुके हैं।

यूरोप, कजाकिस्तान और रूस में नदियां जमने से 6 माह के लिए यहां आते हैं पक्षी
वन्य जीव विभाग के रेंज अफसर कमलजीत सिंह ने बताया कि यूराेप, कजाकिस्तान, अफगानिस्तान, रूस, साइबेरिया आदि देशों में बर्फ जमाने वाली ठंड का मौसम आते ही वहां के लाखों पक्षी भारत का रुख करते हैं। इनमें से करीब एक लाख पक्षी हरिके पत्तन में रुक जाते हैं, बाकी देश के अलग-अलग जलाशयों में 6 महीने का समय बताते हैं। हरिके पत्तन में पर्याप्त मात्रा में मछलियां हाेने के कारण इन पक्षियों को यहां खाने की दिक्कत नहीं होती। इसलिए ये हजारों किलोमीटर का सफर तय करके यहां आते हैं। हर साल ये नवंबर के तीसरे सप्ताह में हरिके पहुंचते हैं, मगर इस बार अक्टूबर के आखिरी सप्ताह में ही इनकी आमद शुरू हो गई है। अब तक हजारों पक्षी यहां डेरा डाल चुके हैं। यह सभी पक्षी मार्च महीने के बाद अपने देशों को लौट जाएंगे।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- परिस्थिति तथा समय में तालमेल बिठाकर कार्य करने में सक्षम रहेंगे। माता-पिता तथा बुजुर्गों के प्रति मन में सेवा भाव बना रहेगा। विद्यार्थी तथा युवा अपने अध्ययन तथा कैरियर के प्रति पूरी तरह फोकस ...

और पढ़ें