विरोध जारी रहेगा:नीट-पीजी काउंसिलिंग में देरी के विरोध में रेजिडेंट डॉक्टरों की हड़ताल का दूसरा दिन

अमृतसर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • 2 घंटे बंद रखी जीएनडीएच की ओपीडी, 3 तक विरोध

मेडिकल कॉलेजों में नीट-पीजी काउंसलिंग में हो रही देरी को लेकर रेजिडेंट डॉक्टरों का विरोध मंगलवार को भी जारी रहा। इस दौरान उन्होंने 2 घंटे ओपीडी बंद रखी। इससे पहले सोमवार को पूरे दिन ओपीडी बंद रखी गई थी, जिस कारण मरीजों को काफी दिक्कत आई थी। फिलहाल मंगलवार को भी विरोध जारी रहा। रेजिडेंट डॉक्टर्स एसोसिएशन के प्रधान डॉ. साहिल कुंडल, उपाध्यक्ष डॉ. मधुर पजनी, डॉ. परनीत, डॉ. कृष्णा, डॉ. सुमित लूना, डॉ. गुरिंदर बीर, डॉ. गुरप्रीत, डॉ. प्रिया, डॉ. दविंदर की अगुवाई वाली टीम ने आज भी दोपहर 12 से 2 बजे तक ओपीडी बंद रखी।

हालांकि मंगलवार को मरीजों को ज्यादा दिक्कत नहीं आई। उक्त का कहना है कि वह मरीजों का भला चाहते हैं, उनकी सुनी जाए। वह मरीजों का हित चाहते हैं, इसीलिए इमरजेंसी और कोविड सेवाएं संचालित की जा रही हैं। उक्त का कहना है कि देरी के चलते नए बैच नहीं आ रहे हैं और सारा काम दो बैचों पर चल रहा है, इससे डॉक्टरों पर वर्कलोड बढ़ गया है। उक्त की मांग है कि नीट-पीजी 2021 काउंसिलिंग के साथ-साथ प्रवेश प्रक्रिया में तेजी लाई जाए ताकि डॉक्टरों और मरीजों दोनों को राहत मिले। डॉक्टरों का कहना है कि सरकार ने 3 नवंबर को मुद्दे के संदर्भ में 3 दिसंबर को लिखित में देने को कहा है, तब तक विरोध जारी रहेगा।

खबरें और भी हैं...