नया प्रोजेक्ट / अमृतसर से 2 फोरलेन बनाने का काम 6 महीने में शुरू होगा

X

  • अमृतसर से रमदास, घुमान के लिए फोरलेन और हर्षाछीना से राजेवाल तक रिंग रोड 3 साल में
  • 39 किलोमीटर लंबी होगी अमृतसर-अजनाला-रमदास फोरलेन

दैनिक भास्कर

Jul 01, 2020, 04:25 AM IST

अमृतसर. अगले छह महीनों में अमृतसर-अजनाला-रमदास फोर लेन, अमृतसर-घुमान फोर लेन के साथ ही हर्षा छीना टू राजेवाल रिंग रोड बनाने का काम शुरू हो जाएगा।

इसमें बाईपास भी बनाए जाएंगे। इसके अलावा इनसे पहले अमृतसर-अजनाला रोड भी रिपेयर करवाया जाएगा। यह काम नेशनल हाईवे अथाॅरिटी ऑफ इंडिया की तरफ से करवाए जाएंगे।

इन प्रोजेक्ट को पूरा होने करने के लिए सरकार ने 3 साल की समय सीमा रखी है। इससे बॉर्डर बेल्ट लोगों और व्यापारी को फायदा होाप्। 

39 किलोमीटर लंबी होगी अमृतसर-अजनाला-रमदास फोरलेन

39 किलोमीटर लंबी अमृतसर-अजनाला-रमदास फोर लेन पर 510 करोड़ रुपए खर्च होंगे। श्री करतारपुर साहिब लांघा खुलने के बाद उन्होंने संसद में सबसे पहले संसद में यही मांग उठाई थी।

जिसमें  अजनाला, अव्वाण, गग्गोमाहल और थोबा चार बाईपास बनाए जाएंगे। इससे संगत बिना रुकावट करतारपुर साहिब के दर्शन के लिए जा सकेगी।

हर्षा छीना से राजेवाल तक 1150 करोड़ से बनेगी रिंग रोड

1150 करोड़ की लागत से हर्षा छीना टू राजेवाल रिंग रोड बनेगा। इसमें हर्षा छीना, एयरपोर्ट की बैकसाइड से भगवान वाल्मीकि तीर्थ से होते हुए, बोपाराय, बाज सिंह, खासा, भकना, धत्तल, बोहड़ू से होते हुए गिलवाली, चब्बा, महिला पंडोरी के नजदीक से होते हुए राजेवाल (नेशनल हाईवे 15- जहां दिल्ली-अमृतसर एक्सप्रेस वे मिलेगा) वहां यह इकट्ठे हो जाएंगे। इसकी लंबाई 51 किलोमीटर रहेगी।

अमृतसर-घुमान फोरलन बनाने पर खर्च होंगे 750 करोड़ 

अमृतसर-घुमान 45.33 किलोमीटर लंबी फोरलेन बनाने में 750 करोड़ की लागत आएगी। इसमें फतेहपुर राजपूतां, मेहता, घुमान के उपर से तीन बाइपास बनेंगे। यह काम पहले का शुरू हो गया था, वहीं बीच में रुकने पर मुश्किलें दूर करवाई गईं।

भूमि अधिग्रहण वगैरह का प्रोसेस पूरा हो चुका है और जल्द किसानों को पैसे भी मिल जाएंगे। यह  बाईपास  आगे जाकर ऊना (हिमाचल प्रदेश) तक पहुंचेगा।

नए रोड बनने से बॉर्डर बेल्ट और व्यापार काे फायदा : औजला

^ फोन लेन प्रोजेक्ट को पूरे होने में करीब तीन साल लगेंगे। फोरलेन और रिंग रोड बनने से बाॅर्डर बेल्ट और व्यापार को फायदा मिलेगा। यह प्रोजेक्ट के लिए केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी और मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह के प्रयासों से धरातल पर उतरने जा रहा है। 
गुरजीत सिंह औजला, सांसद

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना